लखनऊ, जेएनएन। Defence Expo 2020: सामने देश के सपूत हों तो सीने में स्नेह उमडऩा स्वाभाविक है। देश के सेना का शौर्य तो एक मिसाल है और जब यह शूरवीर सामने होते हैं तो हर देशवासी सम्मान और स्नेह से उनका स्वागत करता है। ऐसा ही कुछ नजारा शुक्रवार को देखने को मिला जब उमड़ी भीड़ को नियंत्रित करने सुरक्षाकर्मियों को मशक्कत करनी पड़ी। डिफेंस एक्सपो में लगी हथियारों की प्रदर्शनी का शुक्रवार को आखिरी दिन था। बिना पास के किसी को प्रवेश की अनुमति नहीं थी।

हालांकि, शुक्रवार सुबह से ही वृंदावन स्थित एक्सपो परिसर में लोगों का जमावड़ा लगने लगा। गेट नंबर चार से सामान्य पास धारकों को प्रवेश दिया जा रहा था, जहां लोगों की लंबी कतार थी। सुरक्षाकर्मी पास धारकों की चेकिंग कर उन्हें भीतर प्रवेश दे रहे थे। दोपहर होते होते अचानक हजारों की संख्या में लोग पास लिए परिसर में दाखिल होने लगे। देखते ही देखते वहां मेले जैसा माहौल हो गया। पुलिसकर्मियों को भीड़ नियंत्रित करने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। भीड़ का आलम ये था कि दो छोटे बच्चे अपने परिवार से बिछड़ गए। माइक पर एनाउंस कर इसकी सूचना प्रसारित की गई, जिसके काफी देर बाद बच्चे परिवारजन से मिल पाए। कई लोगों के पर्स व बैग भी पवेलियन में गिर गए थे, जिन्हें पुलिसकर्मियों ने वापस लौटाया।

सुनहरे पल को कैमरे में कैद करने की चाहत

राजधानीवासी सेना के जवानों और उनके हथियार के बीच खुद को पाकर काफी उत्साहित नजर आए। हर कोई इस सुनहरे पल को कैमरे में कैद करने के लिए उत्साहित था। पवेलियन में प्रदर्शनी के लिए लगाया गया टैंक सर्वाधिक आकर्षण का केंद्र बना है। टैंक के भीतर घुसकर बच्चे, युवा व महिलाएं फोटो खिंचवा रहे थे तो कुछ लोग थककर मैदान में बिछी चटाई पर आराम फरमाते नजर आए।

जाने अपनी सेना को

डिफेंस एक्सपो परिसर में सेना की अलग अलग शाखाओं के स्टॉल पर युवाओं की भीड़ देशप्रेम को दर्शा रही थी। वायु सेना के स्टॉल पर बने काउंसिलिंग सेंटर में छात्र छात्राओं ने जवानों से बातचीत की और एयर फोर्स में जॉब से संबंधित तैयारियों के बारे में जानकारी लेते दिखे। लोगों में सीआइएसएफ, एटीएस, जल, थल व वायु सेना के जवानों संग फोटो खिंचवाने के लिए होड़ सी देखने को मिली।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस