लखनऊ(जागरण संवाददाता)। बरौनी से नई दिल्ली जाने वाली ट्रेन 12553 वैशाली एक्सप्रेस के यात्री तेज आवाज और झटके के कारण रात भर सो नहीं सके। यात्रियों ने इसकी शिकायत रेलवे से की। तब बोगी की गड़बड़ी को दूर किया जा सका। ट्रेन 12553 वैशाली एक्सप्रेस की एसी सेकेंड बोगी ए-2 के यात्रियों ने रेलवे से बोगी में अधिक आवाज आने और तेज झटके लगने की शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद पूर्वोत्तर रेलवे ने बोगी की स्प्रिंग ट्राली की जाच की और गड़बड़ी को दूर किया। उधर माता वैष्णो देवी-कामाख्या एक्सप्रेस की एसी थर्ड बोगी बी-1 में पानी न होने से यात्री बेहाल रहे। ट्रेन मुरादाबाद होते हुए लखनऊ तक आ गई। तब बोगी में पानी भरा जा सका। जबकि चंडीगढ़-लखनऊ एक्सप्रेस के यात्रियों को रास्ते भर खटमल काटते रहे। यात्रियों को बी-1 बोगी में गंदे कंबल दिए गए, जबकि सीट की सफाई भी नहीं हुई थी। यात्रियों ने रास्ते में खटमल काटने पर इसकी शिकायत रेल मंत्री से कर दी। जबकि विमान के बराबर तक का किराया लेने वाली 12595 गोरखपुर आनंद विहार हमसफर एक्सप्रेस की एसी थर्ड बोगी बी-17 के यात्रियों को तौलिया नहीं दिया गया। यात्रियों ने जब अटेंडेंट से तौलिया मागा तो बताया गया कि 72 की जगह केवल 10 तौलिया ही दिया जाता है। रेलवे ने मामले की जाच के आदेश दिए हैं। इसी तरह अमृतसर से हावड़ा जा रही पंजाब मेल की स्लीपर क्लास बोगी एस-4 में पानी खत्म हो गया। ट्रेन लखनऊ रुकी, लेकिन यहा भी पानी नहीं भरा जा सका।जबकि विमान के बराबर तक का किराया लेने वाली 12595 गोरखपुर आनंद विहार हमसफर एक्सप्रेस की एसी थर्ड बोगी बी-17 के यात्रियों को तौलिया नहीं दिया गया।

Posted By: Jagran