लखनऊ, जेएनएन।  यूपी में छाया मेडिकल ऑक्सीजन का संकट जल्द दूर हो सकता है। राज्य सरकार की ओर से रेलवे बोर्ड को ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने के लिए भेजे गए पत्र के बाद रेलवे ने भी तैयारी शुरू कर दी। मंगलवार देर रात ऑक्सीजन एक्सप्रेस का एक खाली रैक सुल्तानपुर और वाराणसी के रास्ते झारखंड भेजा गया । इसी रैक से ऑक्सीजन एक्सप्रेस के टैंकरों को लोड कर वाराणसी, लखनऊ और फैजाबाद की ओर भेजा जाएगा।

राज्य सरकार ने झारखंड और उड़ीसा के राउरकेला ऑक्सीजन प्लांट से ऑक्सीजन की डिमांड की है।।इसे देखते हुए रेलवे बोर्ड ने खाली रैक को भी ग्रीन कॉरिडोर बनाकर रवाना किया। मुरादाबाद रेल मंडल से यह रैक लखनऊ रेल मंडल को मिला। जिसके बाद सुल्तानपुर होकर रैक को वाराणसी की ओर रवाना किया गया।।एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक रेलवे बोर्ड ने यह सूचना दे दी है कि जल्द एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस लखनऊ की ओर रवाना होना है। जिसके लिए प्राथमिकता पर खाली रैक को भेजा जा रहा है। बुधवार सुबह तक ऑक्सीजन एक्सप्रेस का मूवमेंट आर्डर जारी हो जाएगा।

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कम समय मे ग्रीन कॉरिडोर बनाकर मेडिकल ऑक्सीजन वाले टैंकरों को लादकर उनको बिना देरी देश के कई शहरों में पहुंचाने के लिए ऑक्सीजन एक्सप्रेस की शुरुआत की है। यूपी में भी ऑक्सीजन का संकट लगातार बढ़ रहा है। राज्य सरकार ने झारखंड के जमशेदपुर और बोकारो और उड़ीसा के राउरकेला ऑक्सीजन प्लांट से ऑक्सीजन लाने के लिए रेलवे बोर्ड को पत्र लिखा है। गुजरात के कांडला बंदरगाह से 400 खाली ऑक्सीजन सिलिंडर जल्द ही नए गुड्स रैक के जरिये वाराणसी पहुंचेंगे। रेलवे ने ऑक्सीजन एक्सप्रेस को लेकर अपनी तैयारी तेज कर दी है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021