लखनऊ, जेएनएन। अब ज्यादा वक्त नहीं है। बस कहां है, किस रूट पर है और कितनी दूरी पर है यह सब कुछ चंद पलों में आपके मोबाइल स्क्रीन पर आपकी आंखों के सामने होगा। ऐसा इसलिए होगा कि नगरीय निदेशालय आने वाली नई 700 इलेक्ट्रिक नगर बसों के लिए नए रूट की डिजिटल मैपिंग कराने जा रहा है। इससे गूगल मैप पर यात्री को यह नए रूट दिखेंगे। नए रूट बनाने की प्रक्रिया सोमवार से शुरू हो जाएगी। निदेशालय गुडंबा स्थित रिमोट सेंसिंग अप्लीकेशन सेंटर से यह कार्य कराने जा रहा है।

निदेशालय राजधानी सहित 14 शहरों के करीब 300 रूट्स की डिजिटल मैपिंग कराएगा। बस की दूरी, कहां से कहां तक जाएगी और लोकेशन समेत सभी जानकारी मैपिंग के बाद यात्री के मोबाइल पर होंगी।

मैपिंग के बाद बन सकते हैं 12 नए मार्ग

मैपिंग के बाद राजधानी लखनऊ में दस से 12 नए मार्ग और बन सकते हैं। इसका फायदा यह होगा कि नए रूट बनने से कई अतिरिक्त रूटों पर नगर बस सेवा भी आमजन को उपलब्ध हो जाएगी।

इन शहरों के रूट दिखेंगे

नगरीय निदेशालय के संयुक्त निदेशक अजीत सिंह ने बताया क‍ि डिजिटल मैपिंग की प्रक्रिया सोमवार से शुरू हो रही है। पूरे प्रदेश के विभिन्न शहरों के करीब तीन सौ मार्गों की मैपिंग कराई जाएगी। इससे आमजन की राह बहुत आसान हो जाएगी। लखनऊ, कानपुर, आगरा, प्रयागराज, वाराणसी, मेरठ, मथुरा, बरेली, गोरखपुर आदि शहरों के रूट मैपिंग के बाद गूगल पर दिखेंगे।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस