लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के मदरसों में अब राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) व राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) का प्रशिक्षण दिया जाएगा। उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद ने सभी मदरसों को इसके निर्देश भेज दिए हैं। मदरसा बोर्ड का मानना है कि इससे मदरसों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं में भाईचारा, अनुशासन, धर्म निरपेक्षता, निस्वार्थ सेवा का भाव जागृत होगा।

मदरसा शिक्षा परिषद ने कुछ समय पहले ही बोर्ड बैठक में मदरसों में एनसीसी व एनएसएस प्रशिक्षण देने का निर्णय लिया था। मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार राघवेन्द्र सिंह ने बताया कि बोर्ड ने अब इसके निर्देश सभी मदरसों में भेज दिए हैं। जल्द ही बोर्ड यह भी देखेगा कि उसके निर्देशों का पालन कितने मदरसों ने किया है।

उन्होंने बताया राष्ट्रीय कैडेट कोर का उद्देश्य ऐसा वातावरण प्रदान करना ताकि युवा भारतीय सेना में शामिल होकर देश की रक्षा करे। इससे मदरसों के भी युवा शस्त्र सेनाओं में अपना कॅरियर बनाने के लिए प्रेरित होंगे। शिक्षा के साथ ही राष्ट्र सेवा में तत्पर होने के लिए मदरसों में यह प्रशिक्षण कार्यक्रम देने का निर्णय लिया गया है।

इसी प्रकार राष्ट्रीय सेवा योजना प्रशिक्षण युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित है। इसकी गतिविधियों में भाग लेने वाले विद्यार्थी समाज के लोगों के साथ मिलकर समाज के हित के लिए कार्य करते हैं। सामाजिक कुरीतियों के निवारण, साक्षरता, पर्यावरण सुरक्षा, स्वास्थ्य एवं सफाई, आपातकालीन या प्राकृतिक आपदा के समय किस प्रकार पीडि़तों की सहायता की जाए, इसमें यह सिखाया जाता है। मदरसा छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए मदरसों में एनएसएस का प्रशिक्षण भी बेहद जरूरी है।

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप