लखनऊ, राज्य ब्यूरो। यूपी में शुक्रवार को कोरोना के सक्रिय केस घटकर 994 हो गए। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान यह पहला मौका है जब एक्टिव केस की संख्या एक हजार से कम हो गई है। इससे पहले 15 मार्च 2021 को 1838 सक्रिय केस थे। फिर मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ और 30 अप्रैल को सर्वाधिक 3.10 लाख सक्रिय हो गए। मई से लगातार रोगियों की संख्या घट रही है और अब यह सबसे कम है।

अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि बीते 24 घंटे में कोरोना के 61 नए रोगी मिले। 52 जिलों में एक भी नया मरीज नहीं मिला है। 21 जिलों में इकाई में मरीज मिले हैं। सिर्फ दो जिलों में 10 से ज्यादा मरीज मिले हैं। इसमें प्रयागराज में 11 व लखनऊ में 10 रोगी मिले। पांच और संक्रमितों की मौत के साथ अब तक कुल 22748 लोगों की जान यह खतरनाक वायरस ले चुका है। अब तक कुल 17.08 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और इसमें से 16.84 लाख रोगी ठीक हो चुके हैं। रिकवरी रेट 98.6 प्रतिशत है। 2.38 लाख लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया। अब पाजिटिविटी रेट 0.03 प्रतिशत है।

211 सैंपल की जांच में नही मिला डेल्टा प्लस वैरिएंट : यूपी में कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट से संक्रमित कोई नया रोगी सामने नहीं आया है। किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) और बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) के इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज में 211 सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग की गई। किसी भी सैंपल में कोरोना का डेल्टा प्लस वैरिएंट न मिलने से काफी राहत मिली है। जुलाई के पहले हफ्ते में डेल्टा प्लस वैरिएंट के दो मामले सामने आए थे और इसमें से एक मरीज की मौत भी हो गई थी। एक रोगी कप्पा वैरिएंट से भी संक्रमित पाया गया था। फिलहाल राज्य सरकार कोरोना का संक्रमण न बढ़े इसे लेकर पूरी सर्तकता बरत रही है। हर दिन करीब ढ़ाई लाख लोगों की कोरोना जांच की जा रही है। इसमें से 10 प्रतिशत सैंपल हर दिन जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे जा रहे हैं।

 

Edited By: Anurag Gupta