लखनऊ ( जेएनएन)। छह दिसंबर पर विरोध प्रदर्शन स्वरूप मुस्लिमों ने फैजाबाद की बेनीगंज मस्ज़िद पर काला झंडा लगा कर विरोध जताया। इसके अलावा अयोध्या मस्ज़िद के पुनर्निर्माण के लिए मुस्लिमों ने कुरानख्वानी की। बताते चलें कि आज अयोध्या विवाद के मामले की 25वीं बरसी है। 

इस मौके पर पूरे फैजाबाद में सतर्कता है विवाद का मुख्य केंद्र रामनगरी होने की वजह से यहां निगरानी जरा हट कर की गई है।  छह दिसंबर, 1992 में विवादित ढांचा को ढहा दिया गया था। तब से हर साल छह दिसंबर के दिन हिंदू-मुस्लिम संगठनों द्वारा परस्पर विरोधी आयोजन किए जाते हैं। कतिपय हिंदू संगठन शौर्य दिवस मनाते हैं जबकि मुस्लिम संगठनों द्वारा कलंक दिवस, यौमे गम व कुरानख्वानी का आयोजन किया जाता है। निषेधाज्ञा लागू हो चुकी है। चार जोन व दस सेक्टर और सब सेक्टरों में अयोध्या को बांट कर निगरानी की जा रही है।

पश्चिमी यूपी में लगे बाबरी मस्जिद की दोबारा तामीर करो के पोस्टर 

बाबरी मस्जिद के विध्वंस की 25वीं बरसी पर बुधवार शाम पश्चिमी यूपी के कई शहरों में मस्जिद के पुनर्निर्माण के लिए आंदोलन चलाने का दावा करने वाले पोस्टर दिखे हैं। यूपी पुलिस ने हरकत में आते हुए मेरठ में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। पोस्टरों के पीछे इसी संगठन का हाथ माना जा रहा है।

पोस्टर के अनुसार इस आंदोलन की अगुवाई पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) कर रहा है, जिस पर लिखा है कि कहीं हम भूल न जाएं, धोखे के 25 साल, बाबरी मस्जिद की दोबारा तामीर करो। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस तरह के पोस्टर पश्चिमी यूपी के शहर मेरठ, गाजियाबाद, अलीगढ़, हाथरस और सहारनपुर में मिले हैं। पुलिस का कहना है कि पीएफआई पश्चिमी यूपी के कुछ लोगों को जुटाकर दिल्ली में आंदोलन करने की संभावना है।

हाथरस में मुस्लिम इंतजामिया कमेटी के सदर रिजवान अहमद क़ुरैशी की अगुवाई में समाज के लोगों ने काला दिवस मनाया। काली पट्टी बांधकर मोहल्ला मधुगढ़ी से जुलूस निकाला गया। तालाब चौराहा पर राज्यपाल के नाम एसडीएम को ज्ञापन दिया गया।
 

Posted By: Ashish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप