फीरोजाबाद [डॉ.राहुल सिंघई] । लोकसभा चुनाव के पहले शिकोहाबाद में आज समाजवादी पार्टी का शक्ति प्रदर्शन होगा। रामलीला मैदान में आयोजित राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव के 72 वें जन्म दिन पर जहां सैफई परिवार एकजुट होगा, वहीं पार्टी के नेता और विधायक आएंगे। इसके साथ ही फीरोजाबाद लोकसभा क्षेत्र के ढाई लाख लोगों को न्यौता दिया गया है। फीरोजाबाद को सपा का गढ़ माना जाता रहा है। यहां से प्रोफेसर रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव सांसद हैं। लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे राजनैतिक दलों के बीच सपा का यह सबसे बड़ा जलसा माना जा रहा है। पार्टी की जिला इकाई के मुताबिक सुबह दस बजे से कार्यक्रम शुरू हो जाएगा। इसके बाद दोपहर 12 बजे से भोजन शुरू होगा, जो शाम छह बजे तक चलेगा। 

विस चुनाव से पहले सूबे के सबसे बड़े सियासी परिवार में आई दूरियां लोकसभा चुनाव के पहले खत्म होने वाली हैं। 29 जून को शिकोहाबाद के रामलीला मैदान पर एकजुटता नजर आएगी। धरती पुत्र मुलायम सिंह के साथ-साथ शिवपाल यादव और परिवार के सभी सदस्य प्रो. रामगोपाल यादव के 72 वें जन्मदिन के आयोजन में शामिल होंगे। इस दिन पूरे देश को परिवार की एकजुटता का संदेश दिया जाएगा।

उप्र में फीरोजाबाद को सपा का गढ़ माना जाता रहा है। शैक्षिक कैरियर बनाकर शिक्षक बनने से लेकर विस चुनाव में शिकोहाबाद मुलायम सिंह की राजनैतिक जमीन बना। 1993 में शिकोहाबाद से मुलायम सिंह यादव ने विस चुनाव जीता और मुख्यमंत्री बने। वहीं अखिलेश यादव पहली बार यहीं से सांसद बने। उसके बाद प्रो. रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव 2014 में भाजपा की लहर को तोड़ते हुए सांसद बने।

2017 विधानसभा चुनाव के ऐन पहले सपा में पारिवारिक कलह शुरू हुई। जो बिखराव तक पहुंची। उस वक्त प्रो. यादव और अखिलेश यादव के समर्थन में फीरोजाबाद के सपाई एकजुट हुए थे। इसके बाद चले सियासी दौर में रिश्तेदार तक बाहर कर दिए गए। परिवार के रिश्तों में जमीं बर्फ पिछले कुछ महीनों से पिघलने लगी थी। पिछले महीने प्रो. रामगोपाल के पोते के जन्मदिन में शिवपाल यादव पूरे परिवार के साथ शामिल हुए थे।

इसके बाद प्रो. रामगोपाल यादव के जन्मदिन के आयोजन की भूमिका बनाई गई। शिकोहाबाद के रामलीला मैदान में हो रहे आयोजन को परिवार की एकजुटता दिखाने का माध्यम बनाया गया। पार्टी सूत्रों के मुताबिक आमंत्रण पहुंचते ही मुलायम सिंह और शिवपाल सिंह यादव ने आने की स्वीकृति दे दी है। आयोजकों के मुताबिक दोनों नेता 28 जून को सैफई पहुंचेंगे और 29 की सुबह वहां से शिकोहाबाद आएंगे। 

Posted By: Ashish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप