लखीमपुर, संवादसूत्र। जिले में पुलिस का एक कारनामा सामने आया है। पैला गांव में जिस युवक की खंभे से बांधकर पिटाई की गई थी। पुलिस उस युवक को खंभे से छुड़ाकर थाने ले गई। वहां आरोपितों की शिकायत दर्ज करने के बजाय पुलिस ने पीडि़त का ही चालान कर दिया। वहीं ग्रामीण पूरे मामले में पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं। वहीं बताया जा रहा है कि वोट न डालने पर युवक की पिटाई की गई है।

यह है घटना: घटना तीन दिन पूर्व नीमगांव थाना क्षेत्र के पैला गांव की है। जहां एक युवक की गांव के दबंगों ने बिजली के खंभे से बांधकर पिटाई की। पुलिस छुड़ाने पहुंची तो वहां दबंगों ने पुलिस के साथ भी धक्कामुक्की की। किसी तरह पुलिस ने युवक को खंभे से खोलकर थाने लेकर आई। वहीं थाने में भी दबंगों का रुतबा बना रहा। जिसकी वजह से पुलिस ने आरोपितों पर कार्रवाई करने के बजाय पीडि़त का ही चालान कर दिया। वहीं जब दूसरे दिन खंभे से बंधे युवक की तस्वीर वायरल हुई। तब पुलिस ने पीडि़त के घर पहुंचकर उसकी मां से तहरीर ली। इस पर कमलेश, रोहित, रमेश सहित पांच के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज की गई। पीडि़त की मां ने बताया है कि उसके पुत्र को गांव के दबंगों ने चुनाव में वोट न देने पर बिजली के खंभे से बांध कर पीटा। पिटाई से उसको काफी चोटें आईं हैं। पीडि़त का ही चालान करने के सवाल पर इंस्पेक्टर गजेंद्र सिंह ने बताया कि दोनों में झगड़ा हुआ है। दोनों की तरफ से रिपोर्ट दर्ज की गई है।