लखनऊ, जेएनएन। राजधानी में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। इसका ताजा मामला गुरुवार दोपहर चिनहट क्षेत्र के उत्तरधौना गांव में देखने को मिला। जहां, सूदखोर भाइयों ने एक विवाहिता को लाठियों से जमकर पीटा और उसके कपड़े फाड़ दिए। सूदखोरों का उग्र रूप देख ग्रामीण महिला और उसके पति को बचाने की हिम्मत तक नहीं जुटा सके। ग्रामीणों की सूचना के बाद भी पुलिस गांव में नहीं पहुंची और पीड़ित पक्ष की तहरीर की इंतजार करती रही।

उत्तरधौना गांव में गुरुवार दोपहर बाइक सवार दो युवक, एक महिला और उसके पति से बात कर रहे थे। ग्रामीणों के मुताबिक, इस बीच बाइक सवार युवक ने महिला को धक्का देकर गिरा दिया। उसका पति बचाने को दौड़ा तो दोनों युवकों ने उस पर हमला बोल दिया। पति को पिटता देख महिला ने विरोध किया तो दोनों हमलावरों ने महिला की भी पिटाई कर दी। हमलावरों ने महिला के कपड़े फाड़ दिए। हमले से महिला और उसका पति खून से लथपथ हो गए। इसके बाद आरोपित युवक भाग निकले।

महिला ने बताया कि उसका पति ई-रिक्शा चालक है। वह पड़ोस के गांव में रहते हैं। कुछ दिन पहले रुपयों की जरूरत होने पर उत्तरधौना गांव के युवक से उसने तीन हजार रुपये 10 फीसद ब्याज पर लिए थे। इसके बदले में सूदखोर ने उसकी एलईडी टीवी गिरवी रख ली थी। दोनों गुरुवार को सूदखोर के घर जा रहे थे तो वह रास्ते में ही मिल गए। साथ में उसका भाई भी था। दोनों ने रुपये वापस कर टीवी लौटाने की बात कही तो वह गाली-गलौज करने लगे। विरोध पर उसने भाई के साथ मिलकर हमला बोल दिया। घायल महिला और उसके पति ने क्षेत्र स्थित अस्पताल में इलाज कराया उसके बाद थाने पहुंचे। उधर, इंस्पेक्टर चिनहट ने बताया उन्हें घटना की जानकारी नहीं है। न ही अभी तक कोई उनके पास शिकायत लेकर आया है।

पूरे गांव में है सूदखोर भाइयों का आतंक

सूदखोर भाई महिला को सड़क पर लाठियों से दौड़ा-दौड़कर पीट रहे थे। पर कुछ दूरी पर खड़े ग्रामीण तमाशा देख रहे थे। दोनों का गांव में इतना आतंक है कि ग्रामीण डर के मारे महिला को छुड़ाने की हिम्मत तक नहीं जुटा सके। ग्रामीणों के मुताबिक दोनों भाई पूरे गांव में आए दिन मारपीट करते रहते हैं।

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप