लखनऊ, जेएनएन। आइआरसीटीसी तेजस एक्सप्रेस को पत्थर मारकर उसके शीशे तोडऩे की घटना थमने का नाम नहीं ले रही है। शरारती तत्वों ने एक बार फिर तेजस एक्सप्रेस को निशाना बनाया। इसकी बोगियों के पांच शीशों को पत्थर मारकर क्षतिग्रस्त कर दिया। आइआरसीटीसी ने रेलवे से शीशे को बदलने का आदेश दिया है। 

चार अक्टूबर की शुरुआत के बाद ही तेजस एक्सप्रेस को शरारती तत्वों ने निशाना बनाया था। इसके बाद तेजस एक्सप्रेस की ऐशबाग कोचिंग डिपो में खड़ी बोगियों के शीशे से क्षतिग्रस्त शीशे को बदल दिया गया था। अब एक बार फिर से तेजस एक्सप्रेस पर पथराव किया गया है। इसके चलते चेयरकार बोगी सी-पांच का एक शीशा पत्थर से टूट गया। जबकि इसके पीछे की चार और बोगियों के चार शीशे क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

मंगलवार को ट्रेन का ऐशबाग में परीक्षण किया गया था। उस परीक्षण के दौरान भी टूटे शीशे नहीं बदले जा सके। इसके चलते बुधवार सुबह ट्रेन टूटे शीशों के साथ ही रवाना हो गई। इस बारे में आइआरसीटीसी के मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अश्विनी श्रीवास्तव का कहना है कि शीशों के क्षतिग्रस्त होने पर उनको रेलवे के कोचिंग डिपो में बदला जाता है।  

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस