लखनऊ, जेएनएन। ठाकुरगंज के हबीबपुर निवासी डेयरी संचालक राजेश यादव के घर सोमवार को दिन दहाड़े धावा बोलकर चोर नकदी समेत लाखों के जेवर उड़ा ले गए। घटना के तीन दिन बाद भी पुलिस पीडि़त को टहलाती रही, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। शुक्रवार दोपहर जब घटना की जानकारी और पुलिस की लापरवाही का मैसेज इंटरनेट मीडिया पर चला तो पुलिस हरकत में आ गई।

राजेश के मुताबिक सोमवार शाम वह दूध बेचने गए थे। पत्नी रीतू, बीमार बेटे को लेकर अस्पताल गईं थीं। रात करीब नौ बजे जब वह बेटे की दवा लेकर लौटीं तो उन्हें घर का ताला टूटा पड़ा मिला। यह देख जब वह मकान में दाखिल हुईं तो उन्हें सारा सामान अस्त-व्यस्त मिला। कमरे समेत अलमारियों और बक्सों के भी ताले टूटे पड़े थे। जांचने पर पता चला कि चोर करीब तीन लाख के जेवर और नकदी चोरी कर ले गए हैं। इसके बाद उन्होंने घटना की जानकारी चौकी में दी। अगले दिन पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया।

राजेश ने तहरीर भी दी, लेकिन अबतक मुकदमा दर्ज नहीं किया गया। वह थाने से लेकर चौकी तक के चक्कर लगाते रहे, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। शुक्रवार दोपहर को घटना का मैसेज इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद पुलिस ने पीडि़त को फोन किया और कहा कि शाम को आकर एफआइआर की कॉपी ले जाएं। पीडि़त के मुताबिक शाम तक भी मुकदमा नहीं लिखा गया।