गोंडा, जागरण संवाददाता। सोमवार की रात दवा विक्रेता का अपहरण कर लिए जाने का मामला सामने आया है। अपहरणकर्ता ने परिवारजन से चार लाख रुपये की फिरौती मांगी है। अपहृता की बाइक गांव के समीप बरामद हुई है। इटियाथोक व धानेपुर पुलिस पहले सीमा विवाद में उलझी रही। बाद में दोनों थानों की पुलिस के साथ स्पेशल आपरेशन ग्रुप (एसओजी) अपहृता के घर पहुंची। परिवारजन से मामले की जानकारी ली। जिस नंबर पर नंबर अपहरणकर्ता ने फोन किया था। उसे सर्विलांस पर लगाया है। अपहृत के सहयोगियों से भी पूछताछ की जा रही है।

इटियाथोक के रमवापुर नायक निवासी दयाराम विश्वकर्मा के मुताबिक उसकी धानेपुर के जोगीजोत भट्ठे के पास मेडिकल की दुकान है। रोज की तरह उसका बेटा लालमन विश्वकर्मा बाइक से दुकान गया था। रात करीब साढ़े नौ बजे फोन आया कि उसके बेटे का अपहरण कर लिया गया है। चार लाख रुपये नहीं दोगे तो उसे जान से मार दिया जाएगा। उसके बेटे की पिटाई भी की गई। इसके बाद वह लोग बेटे की खोज के लिए निकले लेकिन, उसका पता नहीं चल सका।

गांव के समीप उसकी बाइक बरामद हुई। उसकी किसी से दुश्मनी भी नहीं है। उसने इटियाथोक थाने में तहरीर दी। थानाध्यक्ष संजय कुमार गुप्त ने कहा कि मामला इटियाथोक से संबंधित है। थानाध्यक्ष इटियाथोक करुणाकर पांडेय ने कहा कि मामला धानेपुर से संबंधित है। सीओ सदर लक्ष्मीकांत गौतम ने कहा कि शीघ्र ही मामले का राजफाश किया जाएगा। देरी से जांच किए जाने के बारे में पूछने पर कहा कि अभी एक-दो घंटे के भीतर आपको जवाब मिल जाएगा।

साढ़े आठ बजे बंद हो गई थी क्लीनिक : धानेपुर के जोगीभट्टे के पास स्थित क्लीनिक से लालमन विश्वकर्मा दुकान बंद कर करीब साढ़े आठ बजे चला गया था। दुकान पर ऐसी कोई घटना नहीं हुई। उसका घर इटियाथोक थाने के रमवापुर नायक में पड़ता है। जबकि उसकी दुकान धानेपुर थाने के तहत पड़ती है।

Edited By: Anurag Gupta