लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में 25 हजार होमगार्ड जवानों की ड्यूटी खत्म किये जाने के निर्णय के बाद होमगार्ड विभाग में इन जवानों की ड्यूटियों को लेकर मंथन तो शुरू हो गया है, लेकिन इस मुद्दे पर सियासत भी शुरू हो गई है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने योगी सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए पूछा है कि वह 25 हजार होमगार्डों को बर्खास्त करके उनके परिवार के लाखों लोगों को सजा क्यों दे रही है?

बसपा अध्यक्ष मायावती ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि 'यूपी सरकार अपनी गलत आर्थिक नीतियों की सजा 25 हजार होमगार्डों को बर्खास्त करके उनके परिवार के लाखों लोगों को क्यों दे रही है? इससे प्रदेश में अराजकता और ज्यादा बढ़ेगी। सरकार रोजगार देने के बजाए बेरोजगारी को और क्यों बढ़ा रही है? सरकार जनहित पर समुचित ध्यान दे तो बेहतर है।'

बता दें कि पुलिस विभाग ने 25 हजार होमगार्ड जवानों की ड्यूटी समाप्त करने का निर्णय लिया था। थानों में पुलिस बल की कमी की वजह से पिछले दिनों होमगार्ड जवानों को कानून व्यवस्था की ड्यूटी में लगाने का निर्णय लिया गया था। इसके लिए होमगार्ड विभाग ने 25 हजार जवानों को पुलिस ड्यूटी के लिए दिया था, जो थानों से लेकर चौराहों पर ट्रैफिक तक संभाल रहे हैं। माना जा रहा है कि बीते दिनों सिपाहियों की भर्ती होने और होमगार्ड जवानों का मानदेय बढ़ाए जाने के बाद यह निर्णय लिया गया है। हालांकि बाद में होमगार्ड विभाग के मंत्री चेतन चौहान ने कहा है कि किसी भी होमगार्ड को नहीं निकाला जाएगा, सभी अपनी दीपावली अच्छे से मनाएं। उन्होंने आश्वासन दिया कि कोई भी होमगार्ड बेरोजगार नहीं होगा।

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप