मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। दिल्ली के तुगलकाबाद में दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा संत रविदास मंदिर ढहाने के बाद गर्म हुई राजनीति में बसपा प्रमुख मायावती भी कूद पड़ी हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि दिल्ली के तुगलकाबाद क्षेत्र में बना संत रविदास मंदिर केंद्र और दिल्ली सरकार की मिलीभगत से गिरवाये जाने का बीएसपी ने सख्त विरोध किया है।

बसपा प्रमुख मायावती ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि इससे इनकी आज भी हमारे संतों के प्रति हीन व जातिवादी मानसिकता साफ झलकती है। बसपा प्रमुख मायावती ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि बीएसपी की मांग है कि इस मामले में ये दोनों सरकारें कोई बीच का रास्ता निकाल कर अब अपने खर्चे से ही इनके मंदिर का पुनः निर्माण करवाएं।

दिल्ली के तुगलकाबाद में शनिवार को दिल्ली विकास प्राधिकरण यानी डीडीए ने संत रविदास मंदिर ढहा दिया, जिसको लेकर दिल्ली से लेकर पंजाब तक अब राजनीति गर्मा गई है। इस पर डीडीए की सफाई आई, जिसमें कहा गया है कि गुरु रविदास जयंती समारोह समिति ने जंगल की जमीन पर निर्माण किया था। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद भी जगह को खाली नहीं किया गया। इसलिए 9 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने डीडीए को आदेश दिया कि वह पुलिस की मदद से इस जगह को खाली कराए और ढांचे को हटाए।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप