लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश सहित देश के कई राज्यों में हजार से अधिक लोगों के मतांतरण मामले के आरोपितों पर शिकंजा काफी कसता चला जा रहा है। विदेश से फंडिंग का मामला सामने आने पर अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी केस दर्ज कर लिया है। उत्तर प्रदेश एटीएस के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय भी इस प्रकरण की जांच में लग गया है। मतांतरण के मामले में उत्तर प्रदेश एटीएस की रिमांड पर चल रहे मौलाना मोहम्मद उमर गौतम तथा जहांगीर कासमी से अब ईडी की टीम भी पूछताछ कर सकती है।

उत्तर प्रदेश में व्यापक मामले में मतांतरण के संबंध में अब प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट (ईसीआईआर) दर्ज की है। इस प्रकरण में उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) की प्राथमिकी के आधार पर प्रवर्तन निदेशालय की जांच टीम ने भी मामला दर्ज किया है।

उत्तर प्रदेश शासन में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मतांतरण के प्रकरण में हमको विदेशों से फंडिंग के पुख्ता सुबूत मिले हैं। एक खाता भी कनफर्म हो गया है, जिसमें विदेशों से रकम आती थी। यह धनराशि क्यों और कैसे आती थी, इसकी जांच की जा रही है। कहीं यह गलत काम को बढ़ावा देने के लिए धनराशि एकत्र करने का माध्यम तो नहीं है। अवस्थी ने कहा कि इस मामले में हवाला ट्रांजेक्शन की भी जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अवैध मतांतरण रोकने के लिए ही कानून लाया गया है।

अवस्थी ने कहा कि मतांतरण के इस मामले को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं और हर पल की जानकारी का अपडेट ले रहे हैं। मुख्यमंत्री ने इस मामले की जांच के लिए उत्तर प्रदेश एटीएस व एसटीएफ के साथ जिला पुलिस की टीमों को लगाने का निर्देश दिया है। इसमें ईडी के साथ ही केंद्र सरकार की एजेंसियों की मदद ली जा रही है। एटीएस की टीमों को आज ही अन्य राज्यों में पड़ताल के लिए भेजा जा रहा है। अवनीश अवस्थी ने कहा कि इस केस के बारे में हमको अधिक जानकारी मिले, इसके लिए एक नम्बर भी जारी किया गया है। इसके साथ ही ई मेल से भी इनपुट मांगा जा रहा है। हम मिले सभी इनपुट की भी पड़ताल करने के बाद जांच को आगे बढ़ेंगे।

उत्तर प्रदेश सहित देश के अन्य कई राज्यों में हजार से अधिक लोगों के मतांतरण पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि देश में बड़े लम्बे समय से मतांतरण का व्यापक पैमाने पर खतरनाक खेल चल रहा है। केंद्र के साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार के इस तरह के मामलों पर शिकंजा कसने के बाद यह सब खेल सामने आने लगा है। इस प्रकरण के दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। जल्दी ही इनके और साथी सामने आ जाएंगे। 

Edited By: Dharmendra Pandey