UP News: लखनऊ, जागरण संवाददाता। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अलीगंज थाना क्षेत्र में गुरुवार की रात एसटीएफ ने मुठभेड़ के दौरान माफिया मुख्तार अंसारी का खास शूटर और पत्रकार की हत्या करने का आरोपित रवि उर्फ दिग्विजय को गिरफ्तार किया है। केंद्रीय विद्यालय के पास गुरुवार देर रात बदमाशों से एसटीएफ की मुठभेड़ हो गई।

मुठभेड़ के दौरान पैर में गोली लगने से रवि उर्फ दिग्विजय घायल हो गया। उसे इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। रवि गाजीपुर में हुई पत्रकार राजेश की हत्या में वांछित चल रहा था। एसटीएफ ने रवि के दो अन्य साथियों को भी धर दबोचा। रवि पर 25 हजार रुपये का इनाम था।

एसटीएफ के डिप्टी एसपी धर्मेश कुमार शाही ने बताया कि शूटर रवि मूल रूप से गाजीपुर के करमंडा लोनेपुर का रहने वाला है। रवि के साथ उसके दो अन्य साथी उत्कर्ष यादव और उमेश भी थे। उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया है। डिप्टी एसपी ने बताया कि रात तीनों एक बाइक से थे।

मुखबिर की सूचना पर एसटीएफ की टीम गिरफ्तारी के लिए केंद्रीय विद्यालय के पास पहुंची। टीम ने रोकने का प्रयास किया तो बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। मुठभेड़ के दौरान इन आरोपियों ने 8 से 10 राउंड फायरिंग की।

जवाबी फायरिंग में रवि के पैर में गोली लग गई और वह गिर पड़ा। घेराबंदी कर तीनों को दबोचा गया। पांच साल पहले मुन्ना बजरंगी के करीबी तौफीक की भी हत्या रवि ने ही की थी। इसके बाद वह फरार हो गया और मुख्तार के करीबियों के संपर्क में आ गया था। रवि गाजीपुर में हुई पत्रकार राजेश की हत्या में वांछित चल रहा था।

Edited By: Umesh Tiwari