लखनऊ, जागरण संवाददाता। गोमतीनगर में सहारा फ्लाइओवर के नीचे रविवार देर रात करीब ढाई बजे पुलिस और बदमाशों की के बीच मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के दौरान बांग्लादेशी डकैत गिरोह के सरगना हमजा के सीने में गोली लगी, जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। मुठभेड़ में गोली लगने से तीन पुलिस कर्मी भी घायल हो गए। जबकि पांच से छह बदमाश भाग निकले। इंस्पेक्टर गोमतीनगर केशव कुमार तिवारी के मुताबिक रात करीब ढाई बजे पुलिस टीम रेलवे ट्रैक के आस पास गश्त कर रही थी। इस बीच छह से सात संदिग्ध पुलिस को जाते दिखे। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी।

सूचना मिलते ही डीसीपी पूर्वी की क्राइम टीम और थाने से पुलिस बल पहुंचा। पुलिस टीम ने बदमाशों को चारों ओर से घेर लिया। जवाबी फायरिंग में एक बदमाश के सीने में गोली लग गई। जिससे वह मौके पर ही धराशाई हो गया। मुठभेड़ के दौरान हेड कांस्टेबल मुकेश चौधरी, नरेंद्र बहादुर और आर्यन शुक्ला को भी गोली लगी। वह भी घायल हुए। घायलों को लोहिया अस्पताल ले जाया गया। जहां, उन्हें भर्ती कर लिया गया है। घायल बदमाश की पहचान बांग्लादेशी डकैत गिरोह के सरगना हमजा के रूप में हुई। वहीं, पुलिस कर्मियों का भी अस्पताल में इलाज चल रहा है। सूचना मिलते ही डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन, एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव मौके पर पहुंचे। वहीं, फरार बदमाशों की तलाश में गोमतीनगर विस्तार, विभूतिखंड समेत अन्य थानों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया। देर रात तक पुलिस की टीमें रेलवे पटरी किनारे जंगल में और अपने-अपने क्षेत्र में बदमशों की तलाश में दबिश दे रही थीं। 

एक हफ्ते पहले मुठभेड़ में गिरफ्तार हुए थे तीन बांग्लादेशी डकैतः एक हफ्ते पहले बीते 11 अक्टूबर की रात चिनहट के मल्हौर स्टेशन के पास पुलिस और बांग्लादेशी बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई थी। मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने तीन बदमाशों को धर दबोचा था। जबिक एक पुलिस कर्मी घायल हुआ था। दो बदमाशों के दाहिने पैर में गोली लगी थी। पुलिस ने बदमाशों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

Edited By: Vikas Mishra