लखनऊ, जागरण संवाददाता। अगर आप ने प्रधानमंत्री आवास योजना में फ्लैट लिया है और पैसे का संकट है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। लविप्रा में आवंटन पत्र लेने के बाद यही पर बैंकों ने शिविर लगा रखे हैं। आराम से 3.20 लाख रुपये का लोन उपलब्ध करा रहे हैं। लविप्रा उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी के निर्देश पर विशेष कार्याधिकारी धर्मेंद्र सिंह ने यह सुविधा उपलब्ध करा दी है। इसके कारण अब तक दर्जनों पीएम आवास के आवंटी लाभ उठा चुके हैं। खासबात है कि साढ़े छह लाख के फ्लैट में ढाई लाख का अनुदान दिया गया है और चार लाख रुपये जमा करना है। इसमें भी बैंक 3.20 लाख रुपये बैंक लोन के रूप में देने को तैयार है। इस सुविधा से पीएम आवास के आवंटियों के सामने अपने फ्लैट का सपना पूरा करना आसान हो गया है। यही नहीं लविप्रा नवंबर माह में कब्जा देने का भी प्रयास कर रहा है, जिससे आवंटी अपने घरों में दीपावली बना सके।

लविप्रा उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने बताया कि शारदा नगर में 2250 और बसंत कुंज योजना में 2250 फ्लैट बनवाए हैं। यह सभी आवंटित हो चुके हैं। कुछ दिन पूर्व ही कई लाभार्थियों द्वारा इतना पैसा जमा करने में असमर्थता जताते हुए प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी से मुलाकात की थी। इसके बाद ही लविप्रा उपाध्यक्ष ने बैंक ऑफ इंडिया सहित अन्य बैंकों से लोन वितरित करने की बात कही थी और इसको ध्यान में रखते हुए उपाध्यक्ष ने बैंकों के अधिकारियों के साथ बैठक की थी। जिसमें एक ही पटल पर समस्त औपचारिकताएं पूर्ण करते हुए लाभार्थियों को गृह ऋण दिलाने का फैसला लिया गया।

इस क्रम में बैंक ऑफ इण्डिया द्वारा प्राधिकरण भवन में लोन शिविर का आयोजन किया गया। इसमें बैंक कर्मियों के अलावा प्राधिकरण के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे। शिविर में बड़ी संख्या में पहुंचे लाभार्थियों ने लोन की प्रक्रिया के बारे में जानकारी हासिल की। प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रभारी विशेष कार्याधिकारी डी.के सिंह ने बताया कि अब तक शिविर में तीन सौ से अधिक आवंटियों ने लोन के लिए शिविर में संपर्क कर चुके हैं। बैंक ऑफ इण्डिया के मार्केटिंग हेड अमिताभ तिवारी ने बताया कि इस योजना के आवंटियों को 3.20 लाख रूपये तक का गृह ऋण दिया जा रहा है।

Edited By: Anurag Gupta