लखनऊ(नीरज मिश्र)। राजधानी का आलमबाग बस स्टेशन विश्वस्तरीय सुविधाओं से लैस होकर तैयार है। बस स्टेशन पूरी तरह से सेंसरयुक्त प्रणाली से लैस है। बसों का आवागमन हो या फिर डिस्प्ले बोर्ड पर सूचनाओं का आदान-प्रदान, सब कुछ सेंसर आधारित है। यात्रियों को गर्मी से राहत देने के लिए गैलरी में मिस्ट फैन (हवा के साथ पानी फेंकने वाले पंखे) लगाए गए हैं। साथ ही वातानुकूलित गैलरी, ऑटोमेटिक डिस्प्ले बोर्ड, एसी वेटिंग रूम, बैंक, पोस्ट ऑफिस, साफ-सुथरे शौचालय की व्यवस्था भी है।

गुजरात के बाद अपने आप में अनूठा है ये बस स्टेशन

वहीं मेट्रो से उतरते ही बिना सड़क पार किए बस पकड़ने की सुविधा, यात्रियों को फ‌र्स्ट फ्लोर तक पहुंचने के लिए आधा दर्जन से ज्यादा लिफ्ट आदि कई सुविधाएं यहां मौजूद हैं। गुजरात के बाद प्रदेश की राजधानी में बनने वाला यह बस स्टेशन अपने आप में अनूठा है। यहां यात्रियों को इसी माह से विश्वस्तरीय सुविधाओं का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा।

ये होंगी सुविधाएं

-एसी वेटिंग रूम मय स्पीकर

-एसी फूड प्लाजा

-बसों की जानकारी के लिए सेंसरयुक्त डिस्प्ले बोर्ड

-गर्मी से राहत के लिए गैलरी में मिस्ट एयरफैन की व्यवस्था

-बैंक, पोस्ट ऑफिस एवं टूरिज्म का दफ्तर

-फ‌र्स्ट फ्लोर तक पहुंचने के लिए लिफ्ट

-महिला, पुरुष और दिव्यांगों के लिए सेंसर प्रणाली पर आधारित विशेष व्यवस्था

-सीसीटीवी कैमरे से लैस है पूरा बस स्टेशन

50 बसों का एक साथ संचालन

बसों के संचालन के लिए 50 प्लेटफार्म तैयार किए गए हैं। विभिन्न रूट के लिए तीन हिस्सों से बसों का संचालन होगा। बसों के इंतजार में गैलरी में बैठने के लिए यात्रियों को मिस्ट पंखे की ठंडी हवा उपलब्ध होगी।

मेट्रो से बस स्टेशन लिंक

न जाम का झंझट और न ही सड़क मार्ग पर ट्रैफिक से गुजरते हुए आलमबाग बस स्टेशन तक पहुंचने की जद्दोजहद। यात्री मेट्रो से उतरकर सीधे बस स्टेशन में प्रवेश पा सकेंगे। निर्माण एजेंसी के एके मिश्रा ने बताया कि बसों के संचालन के साथ ही आलमबाग बस स्टेशन से मेट्रो पकड़ना भी आसान हो जाएगा। परिवहन निगम प्रबंधन ने आलमबाग बस स्टेशन को मेट्रो स्टेशन से सीधे लिंक कर दिया है। सीढि़यां तैयार हो गई हैं। मेट्रो से उतरते ही यात्री लगेज समेत सीधे बस स्टेशन पर आकर रैंप के जरिये आसानी से प्लेटफार्म तक पहुंच सकेंगे। आगामी दिनों में इसकी उपयोगिता और बढ़ने वाली है जब मेट्रो संचालन मुंशी पुलिया तक पहुंचेगा। फिलहाल चारबाग से आलमबाग होते हुए कृष्णानगर, ट्रांसपोर्टनगर, एयरपोर्ट तक आने-जाने वालों की राह आसान होने जा रही है।

यहां से होगा 1400 बसों का संचालन

कानपुर होकर जाने वाली ज्यादातर सेवाएं आलमबाग से ही चलाई जाएंगी। बस स्टेशन के शुरू होते ही परिवहन निगम चारबाग से अपनी बस सेवाओं का संचालन कम कर देगा। क्षेत्रीय प्रबंधक एके सिंह के मुताबिक, एक्सप्रेस-वे समेत कानपुर होकर गुजरने वाली ज्यादातर सेवाओं का यहां से संचालन होगा। करीब साठ फीसद संचालन आलमबाग से होना तय है। करीब-करीब सभी रूट को इस बस अड्डे से छूने की कोशिश होगी। फिलहाल 1400 से अधिक बसों का संचालन यहां से किया जा सकता है।

100 से ज्यादा बसों की होगी पार्किंग

बस स्टेशन पर अंडरग्राउंड पार्किंग बनाई गई है। इंजीनियर अली शब्बर के मुताबिक, यहां सौ से ज्यादा बसों को एक साथ पार्क किए जाने की सुविधा होगी। इससे चारबाग से बसों का दबाव कम होगा। यहीं पर बसों की धुलाई का कार्य भी किया जाएगा।

मुआयने के लिए टीम गठित

बस स्टेशन का निर्माण करीब-करीब पूरा हो गया है। निर्माण करने वाली एजेंसी ने इसके तैयार होने की सूचना परिवहन निगम के अधिकारियों को लिखा-पढ़ी में दे दी है। इस सिलसिले में परिवहन मंत्री के निर्देश पर एमडी ने इसके संचालन के लिए एक टीम गठित कर बस स्टेशन का मुआयना करने को कहा है। टीम में मुख्य प्रधान प्रबंधक एचएस गाबा, सीजीएम टेक्निकल जयदीप वर्मा, प्रधान प्रबंधक अनग मिश्र, आइटी प्रबंधक शुचि कालरा और क्षेत्रीय प्रबंधक एके सिंह समेत पांच अफसरों को इसे अंतिम रूप देने की जिम्मेदारी दी गई है। इसके बाद संचालन संबंधित मामूली बदलावों के साथ ही बस स्टेशन का संचालन शुरू हो जाएगा।

उप्र राज्य सड़क परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक पी. गुरुप्रसाद ने बताया कि बस स्टेशन तैयार हो गया है। बसों के संचालन की व्यवस्था को सुचारु करने के लिए पांच सदस्यीय टीम गठित कर दी गई है। मुआयना कर अधिकारी बस स्टेशन से संचालन की पूरी जानकारी और संशोधन के बारे में निर्माण एजेंसी को बता देंगे। इसे जल्द ही शुरू किया जाएगा।

By Jagran