मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। कानून-व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सख्ती को देखते हुए शासन स्तर पर बड़ा कदम उठाया गया है। मुख्य सचिव डॉ. अनूप चंद्र पांडेय ने पर्वों के दौरान शांति-व्यवस्था और आवश्यक इंतजाम के लिए 15 अगस्त तक पुलिस समेत अन्य संबंधित सरकारी विभागों में कोई छुट्टी न दिये जाने का आदेश जारी किया है। इस बीच विशेष सचिव नियुक्ति धनंजय शुक्ल ने सभी अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, मंडलायुक्त और जिलाधिकारियों को पत्र भेजकर अपेक्षा की है कि 15 अगस्त और बकरीद के पर्व को देखते हुए पूर्व में स्वीकृत अवकाश निरस्त कर दिये जाएं।

कानून-व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रुख अपनाया है। बुलंदशहर के एसएसपी के निलंबन के बाद रविवार को सोनभद्र नरसंहार के चलते डीएम और एसपी को हटा दिया गया। भ्रष्टाचार में संलिप्त अफसरों को भी सरकार ने कड़ा संदेश दे दिया है। कई दागी और भ्रष्टाचार में लिप्त अफसरों पर भी कार्रवाई की तलवार लटक रही है। इस बीच मुख्य सचिव ने 15 अगस्त तक पुलिस और अन्य सरकारी कर्मियों को अवकाश न दिये जाने के निर्देश जारी किये हैं।

डॉ. पांडेय ने अवकाश स्वीकृत न किये जाने के लिए अफसरों की जिम्मेदारी और जवाबदेही तय की है। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि अपरिहार्य और आकस्मिकता की स्थिति में संबंधित कार्मिक के नियंत्रक अधिकारी तथ्यों की पुष्टि के बाद ही अवकाश स्वीकृत कर सकेंगे। विशेष सचिव धनंजय शुक्ल ने अधिकारियों को भेजे पत्र में कहा है कि मुख्यमंत्री ने यह भी अपेक्षा की है कि शासकीय भ्रमण या अवकाश पर गये अधिकारी और कर्मचारी सोमवार से मुख्यालय पर उपस्थित रहना सुनिश्चित करें और 15 अगस्त तक कोई अवकाश स्वीकृत न किया जाए।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप