सीतापुर, जेएनएन। ट्रेन ड्राइवर की सूझबूझ से रविवार को एक बड़ा हादसा टल गया। लखीमपुर से लखनऊ जाने वाली पैसेंजर ट्रेन उस समय दुुर्घटनागस्‍त होने से बाल-बाल बच गई, जब वह टूटे ट्रैक से गुजर रही थी। पटर‍ियों से आ रही तेज आवाज को सुनकर ट्रेन ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर गाड़ी रोक दी। जांच के बाद पता चला की पटरी टूटी हुई है। 

रविवार को लखीमपुर से लखनऊ जाने वाली पैसेंजर ट्रेन 55061 सिधौली और कमलापुर के बीच सुरैचा हाल्ट के पास निकल रही थी, इस बीच पटरियों से तेज आवाज आई। ट्रेन के ड्राइवर ने सूझबूझ का परिचय देते हुए इमरजेंसी ब्रेक लगाकर गाड़ी को रोक लिया। इसके बाद ड्राइवर, गार्ड नीचे उतरे। पटरियों की निगरानी की जा रही थी, इस बीच एक जगह पर पटरी टूटी हुई पाई गई। पटरी के बीच करीब दो से तीन इंच का गैप होना बताया जा रहा है। सूचना देकर मौके पर रेल पथ निरीक्षक और उनकी टीम को बुलाया गया।

करीब आधे घंटे की मरम्मत के बाद फिलहाल पटरी को सही कर दिया गया। इसके बाद ड्राइवर ट्रेन लेकर मौके से रवाना हो गया था। जंक्शन अधीक्षक एके शुक्ला ने बताया कि ठंडक के मौसम में रेल की पटरियां अपने आप चटक जाती हैं। इसी वजह से ऐसा हुआ है। जितनी दूरी में पटरी चटकी है, उसके आसपास 30 किलोमीटर का प्रतिबंध कॉसन लगा दिया गया है। यहां पर ट्रेनें 30 किमी की रफ्तार से ही निकलेंगी। पटरी बदलने के बाद रफ्तार सामान्य कर दी जाएगी। 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप