लखनऊ (जेएनएन)। केजीएमयू में अब शीघ्र ही पीजीआइ की तर्ज पर हॉस्पिटल रिवॉल्विंग फंड से काउंटर खोले जाएंगे। इसके तहत मरीजों को 60 से 70 फीसद तक सस्ती दरों पर ब्रांडेड दवाएं मिलेंगी। फिलहाल यह काउंटर अभी सर्जरी, सीटीवीएस, कार्डियोलॉजी एवं रेडियोथेरेपी विभाग में खोले जाएंगे। इसके लिए विश्वविद्यालय की वेलफेयर सोसाइटी में चल रहे मेडिकल स्टोर को बंद किया जाएगा।

केजीएमयू में भर्ती होने वाले मरीजों के लिए यह राहत भरी खबर है। अब मरीजों को पहले के मुकाबले 60 से 70 फीसद सस्ती दवाएं और ब्रांडेड दवाएं मिलेंगी। इसके लिए केजीएमयू टेंडर करवाने जा रहा है। अक्टूबर से नवंबर के बीच एचआरएफ सिस्टम शुरू हो जाएगा।

मौजूदा वेलफेयर सोसाइटी की फार्मेसी में मिलेंगी दवाएं

वेलफेयर सोसाइटी में 33 प्रतिशत सस्ती दरों पर दवाएं मिलती थीं। नए एचआरएफ सिस्टम के तहत यह दवाएं अब और भी सस्ती दरों पर मिलेंगी। खास बात यह है कि यह सभी दवाएं जेनरिक न होकर ब्रांडेड होंगी। वहीं मौजूदा वेलफेयर सोसाइटी की फार्मेसी में ही इन्हें शुरू किया जाएगा। इन फार्मेसियों का संचालन उन्हीं कर्मचारियों और फार्मासिस्टों से किया जाएगा।

क्‍या कहते हैं केजीएमयू प्रवक्ता

केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. संतोष कुमार का कहना है कि केजीएमयू के कॉर्डियोलॉजी, सीटीवीएस, सर्जरी व रेडियोथेरेपी विभाग में शीघ्र ही वेलफेयर सोसाइटी के काउंटर को बंद कर एसजीपीजीआइ की तर्ज पर रिवॉल्विंग फंड के काउंटर खोले जाएंगे। जिसके लिए कुलपति प्रो.एमएलबी भट्ट ने सहमति दे दी है।

स्वास्थ्य सेवा सप्ताह कल से

राजधानी के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में सोमवार से स्वास्थ्य सेवा सप्ताह की शुरुआत की जाएगी, जिसमें लोगों का निश्शुल्क जांच और इलाज किया जाएगा। निश्शुल्क कैंप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर शुरू होगी। स्वास्थ्य सेवा सप्ताह सोमवार 17 सितंबर से शुरू होकर 25 सितंबर तक चलेगा। सीएमओ डॉ.नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि स्वास्थ्य सेवा सप्ताह में 19 शहरी और 17 ग्रामीण इलाकों में निश्शुल्क कैंप लगेगा।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021