लखनऊ, जेएनएन। कमलेश तिवारी की हत्या के बाद दोनों आरोपित टे्रन पकड़कर भाग निकले और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। हत्यारों की अंतिम लोकेशन दिल्ली में मिली है, जिन्हें पकडऩे के लिए तीन टीमें गैर जिलों में रवाना की गई हैं। एसएसपी लखनऊ कलानिधि नैथानी के मुताबिक कमलेश के परिवार को चार गनर दिए गए हैं।

सुरक्षा के लिहाज से उनके घर पर एक गारद भी तैनात की गई है। कुल सात टीमें हत्यारोपितों को दबोचने के लिए लगाई गई है। एसपी क्राइम को सूरत भेजा गया है। सूत्रों के मुताबिक आरोपितों की लोकेशन मिलने के बाद एक टीम ने गाजियाबाद में डेरा डाला है, जबकि दूसरी टीम दिल्ली के संभावित इलाकों में उनकी तलाश कर रही है।

बताया गया कि हत्या के बाद आरोपित पैदल ही कमलेश के घर से भागे थे। आरोपितों ने कुछ दूर जाने के बाद चारबाग के लिए साधन पकड़ा था और फिर वहां से दिल्ली जाने वाली ट्रेन में बैठ गए थे। पुलिस ने वारदात के बाद करीब 25 सीसी कैमरे खंगाले तो उन्हें इसकी जानकारी मिली। यही नहीं कमलेश के फोन पर आखिरी कॉल जिस नंबर से किया गया था, उसे खंगाला गया तो वह सूरत का निकला।

पुलिस ने उस नंबर की कॉल डिटेल निकाली, जिसके बाद हमलावरों की शिनाख्त हुई। उधर, शनिवार को दिन भर चले हंगामे के बाद पुलिस प्रशासन ने कमलेश के शव का अंतिम संस्कार करा दिया। इस दौरान हजारों की संख्या में मौजूद लोगों ने नारेबाजी की, जिन्हें पुलिस ने किसी तरह शांत कराया।  

यह भी पढ़ें : IRCTC Tejas Express: लेट हुई Tejas तो होस्टेस ने बोला Sorry, यात्रियों को दिया ये गिफ्ट 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप