लखनऊ(जागरण संवाददाता)। सूबे में इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेजों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का रुझान नव प्रयोग व स्वरोजगार के प्रति बढ़ाने के लिए अनूठी पहल की जा रही है। अब हर महीने कलाम एंटरप्रेन्योरशिप लीग का आयोजन किया जाएगा। इस लीग में सभी 650 इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेज हिस्सा लेंगे। हर महीने दो टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों को सम्मानित किया जाएगा और लीग का परिणाम वेबसाइट पर जारी किया जाएगा।

क्या है मकसद?

इसका मकसद इंजीनियरिंग कॉलेजों के बीच प्रतिस्पर्धा बढ़ाना है। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) ने सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों को इसके निर्देश भेज दिए हैं और 20 मार्च तक ऑनलाइन आवेदन करने को कहा है। कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक ने बताया कि कलाम एंटरप्रेन्योरशिप लीग में अलग-अलग इवेंट के अलग-अलग प्वाइंट निर्धारित कर दिए गए हैं। इसमें कॉलेजों के स्टार्टअप परिक्त्रमा, स्टार्टअप सेल और इन्क्यूबेशन सेंटर स्थापित करने के अलग-अलग मानकों पर अंक निर्धारित किए गए हैं। इसके अलावा विद्यार्थियों द्वारा नए आइडिया के प्रोटो टाइप माडल बनाने व क्विज आदि के भी अंक हैं। फिलहाल इस प्रतियोगिता का मकसद विज्ञान एवं तकनीकी के क्षेत्र में नव प्रयोग को बढ़ावा देना है। जब विद्यार्थी खुद का रोजगार स्थापित करने पर जोर देंगे तो देश में रोजगार के अवसर खुद ब खुद बढ़ेंगे।

कुल 205 अंकों की होगी एंटरप्रेन्योरशिप लीग

इंजीनियरिंग कॉलेजों के बीच होने वाली कलाम एंटरप्रेन्योरशिप लीग कुल 205 अंकों की होगी। इसमें कॉलेजों द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में निकाली गई कलाम स्टार्टअप परिक्रमा के 30 अंक होंगे, अच्छे आइडिया के पाच अंक, इसके अलावा क्विज, इलोक्यूशन आदि प्रतियोगिताओं व स्टार्टअप सेल स्थापित करने में प्रथम स्थान पाने वाले को 20 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 15 अंक और तृतीय स्थान पाने वाले को 10 अंक मिलेंगे। इसके अलावा इन्क्यूबेशन सेंटर एक हजार वर्गफीट, 800 वर्गफीट व 600 वर्गफीट का स्थापित करने और उसमें सुविधाओं को लेकर किए जाने वाले मूल्याकन में ग्रेड ए पाने वाले को 40 अंक, ग्रेड बी पाने वाले को 25 अंक व ग्रेड सी पाने वाले को 10 अंक मिलेंगे। इसके अलावा स्मार्ट इंडिया हैकेथॉन के दस अंक, इनोवेटिव गैलरी के लिए प्रोटो टाइप माडल के चयनित होने के 20 अंक और अन्य स्टार्टअप एक्टिविटी के 20 अंक दिए जाएंगे।

By Jagran