लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले सरकार ने तबादलों का सिलसिला शुरू कर दिया है। इसी क्रम में गुरुवार को देर रात छह आइपीएस अधिकारियों का ट्रांसफर किया गया है। बस्ती के आइजी के साथ लखीमपुर खीरी हिंसा कांड की जांच कर रही एसआइटी के मुखिया उपेन्द्र कुमार अग्रवाल का भी तबादला किया गया है।

उत्तर प्रदेश शासन में देर रात तबादलों का सिलसिला जारी है। गृह विभाग ने गुरुवार देर रात छह आइपीएस अधिकारियों का तबादला किया है। डीजीपी ऑफिस में पुलिस महानिरीक्षक कानून-व्यवस्था के पद पर तैनात रहे मोदक रोजश डी राव को बस्ती रेंज का आइजी बनाया गया है। इसके साथ ही शासन ने बस्ती में आइजी के पद पर तैनात अनिल कुमार राय को पुलिस महानिरीक्षक पीएसी सेंट्रल जोन लखनऊ बनाया गया है। आईजी अयोध्या के पद पर तैनात डॉक्टर संजीव गुप्ता को पुलिस महानिरीक्षक कानून-व्यवस्था के पद पर लखनऊ भेज दिया गया है।

प्रयागराज के आइजी केपी सिंह को अयोध्या का नया आईजी बनाया गया है। गोण्डा के आइजी राकेश सिंह को प्रयागराज का नया आइजी बनाया गया है। इनके साथ ही डीजीपी मुख्यालय में तैनात पुलिस उपमहानिरीक्षक के पद पर तैनात उपेन्द्र कुमार अग्रवाल को गोण्डा का नया डीआईजी बनाया गया है। उपेन्द्र कुमार अग्रवाल फिलहाल लखीमपुर खीरी हिंसा कांड की जांच कर रही छह सदस्यीय एसआइटी के प्रमुख हैं।  

Edited By: Dharmendra Pandey