लखनऊ [अजय श्रीवास्तव]। यूपीपीसीएल (उत्तर प्रदेश पॉवर कॉरपोरेशन लिमिटेड) में हुए चर्चित पीएफ घोटाले के आरोपितों की संपत्ति का पता करने का जिम्मा नगर निगम को मिला है। साथ ही उनके परिजनों की संपत्तियों को भी खंगाला जा रहा है। सतर्कता अधिष्ठान (विजिलेंस) ने जानकारी में आई संपत्तियों के अभिलेख नगर निगम को देने को कहा है। दो दिन पहले ही विजिलेंस के एसपी का पत्र नगर निगम को मिला है।

इन आरोपियों में शामिल यूपीपीसीएल के तत्कालीन ट्रस्ट सचिव प्रवीन कुमार गुप्त और तत्कालीन निदेशक सुधांशु द्विवेदी हैं। जिनकी संपत्तियों की खुली जांच के आदेश शासन ने दिए थे। इसमे भवन संख्या 56, चंद्रलोक हाइडिल आफीसर्स कॉलोनी निवासी प्रवीन कुमार गुप्ता के साथ ही उनकी पत्नी अंजू गुप्ता, बेटा अभिनव, बहू मानसी, बेटी अनुभूति की संपत्तियों के बारे में जानकारी मांगी गई है। इसमें खरीदी गई अचल संपत्ति, कृषि योग्य भूमि शामिल है। नगर निगम से इन संपत्तियों की रजिस्ट्री और बैनामा की प्रमाणित प्रतियां मांगी गई है।

इसी तरह सुधांशु द्विवेदी की विकासनगर 7/171 द्विवेदी निलयम के बारे में जानकारी मांगी गई है। इसके अलावा कृषि योग्य भूमि के साथ ही अन्य संपत्तियों से जुड़े अभिलेख मांगे गए हैं। विजिलेंस टीम ने सुधांशु द्विवेदी के साथ ही उनकी पत्नी रेनू, पुत्र सिद्धार्थ, चैतन्य और बहू स्नेहा द्विवेदी की संपत्तियों का भी ब्योरा जुटाया जा रहा है।

जांच से जुड़े पत्र पहुंच रहे नगर निगम

हर कुछ दिन बाद नगर निगम के पास नटवरलालों की संपत्तियों का ब्योरा जुटाने का आदेश आ रहा है। अभी कुछ दिन पहले ही विजिलेंस टीम ने राजकीय निर्माण निगम के अपर परियोजना प्रबंधक राजेश चौधरी की संपत्तियों से जुटाने को कहा था। नगर निगम ने बी-2एम/ 148 सेक्टर बी सीतापुर रोड योजना हाउस आइडी 9157बी56486 के अभिलेख उपलब्ध कराए थे। यह संपत्ति चौधरी के अलावा उनकी पत्नी रूबी चौधरी के नाम पर दर्ज थी। इसी तरह सी-310 निरालानगर (नगर निगम अभिलेखों में भवन संख्या 488ए/127 मोहल्ला कुतुबपुर इरादतनगर) में राजेश चौधरी और रूबी चौधरी की संपत्ति पाई गई थी। एक अन्य संपत्ति सी-271 निरालानगर भवन संख्या 488ए/176 मोहल्ला कुतुबपुर इरादतनगर राजेश चौधरी के परिजन उमा चौधरी के नाम पर दर्ज थी। इसी तरह राजकीय निर्माण निगम में प्रबंध निदेशक रह चुके छत्रपाल सिंह (सीपी सिंह) और उनकी पत्नी अनीता सिंह की संपत्तियों में शामिल 2/33-34 विश्वास खंड गोमतीनगर और 17/1ए मदन मोहन मालवीय मार्ग का ब्योरा मांगा गया था। जांच टीम ने उनके बेटे अभिमन्यु सिंह की भी संपत्तियों की जानकारी नगर निगम से मांगी थी।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस