लखनऊ, जेएनएन। प्रदेश की पहली एसी डबल डेकर ट्रेन की खाली सीटों ने रेलवे के लिए खतरे की घंटी बजा दी है। रेलवे बोर्ड ने कम यात्रियों संग दौड़ रही है। इस ट्रेन को लेकर स्टडी करने के आदेश दिए हैं। अब पूर्वोत्तर रेलवे डबल डेकर ट्रेन के लिए वैकल्पिक रूटों को तलाशने में जुट गया है। 

दरअसल, लखनऊ से आनंद विहार के लिए एसी डबल डेकर ट्रेन सप्ताह में चार दिन मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार और रविवार को सुबह 4:55 बजे रवाना होकर दोपहर 12:55  बजे आनंद विहार पहुंचती है। इस ट्रेन का रूट बरेली-मुरादाबाद होकर है। रेलवे ने लखनऊ से डबल डेकर को चलाने के लिए कई बार सर्वे किया। पहले लखनऊ से गोरखपुर के बीच इंटरसिटी ट्रेन की तरह इसे चलाने की योजना थी। जबकि बाद में रेलवे बोर्ड ने लखनऊ जंक्शन से आनंद विहार के लिए डबल डेकर को चलाने की मंजूरी दी। डबल डेकर का आनंद विहार का चेयरकार का किराया सबसे कम करीब 645 रुपये के आसपास रहा। 

हालांकि, इस ट्रेन में पैंट्री कार न होने और सीटों के शताब्दी एक्सप्रेस की तरह आरामदायक न होने की वजह से यात्रियों ने शुरू से कम रूचि दिखायी। इस बीच रेलवे ने एसी डबल डेकर की लोकप्रियता बढ़ाने के लिए इसका विस्तार जयपुर तक करने का निर्णय लिया। आनंद विहार से नई दिल्ली तक डबल डेकर का ट्रायल पिछले साल किया गया। जून 2018 में रेलवे बोर्ड ने लखनऊ आनंद विहार डबल डेकर को जयपुर तक चलाने की नोटिफिकेशन जारी की। हालांकि रेलवे बोर्ड ने तीन जोन के बीच डबल डेकर के विस्तार को लेकर असहमति बन गई। जिस कारण विस्तार की नोटिफिकेशन प्रभावी नहीं हो सकी। 

यह हो सकता है नया रूट

रेलवे अब डबल डेकर को लखनऊ से सीतापुर होकर आनंद विहार तक चलाने की तैयारी कर रहा है। रेलवे का मानना है कि इससे ट्रेन को छोटी दूरी के भी यात्री मिलेंगे। साथ ही कुछ ठहराव भी बढ़ाए जा सकते हैं। 

कब कितनी सीटें खाली 

तिथि   -    सीटें 

5 दिसंबर -609

6 दिसंबर -557

8 दिसंबर- 522

10 दिसंबर- 689

12 दिसंबर -705

13 दिसंबर -717

15 दिसंबर -704

17 दिसंबर -761

19 दिसंबर -760

20 दिसंबर -766

 

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप