लखनऊ, जागरण संवाददाता। भारत समाचार चैनल के एडिटर इन चीफ ब्रजेश मिश्र और उनके करीबियों पर की गई आयकर विभाग की छापे की कार्रवाई 42 घंटे तक चली। शुक्रवार रात करीब 12 बजे आठ ठिकानों पर छापेमारी कर रही आयकर विभाग की टीमों ने अपनी कार्रवाई पूरी की। इस दौरान चैनल के पार्टनरशिप से जुड़े कुछ दस्तावेज टीमें अपने साथ ले गई हैं। हालांकि लखनऊ में आयकर विभाग के अधिकारी इस पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं।

आयकर विभाग की टीमों ने हलवासिया मार्केट स्थित भारत समाचार चैनल के दफ्तर के अलावा एडिटर इन चीफ सहित उनके करीबियों के आवास पर गुरुवार सुबह छह बजे से छापेमारी शुरू की थी। दिनभर कार्रवाई के बाद विभाग ने इसे छापे में बदल दिया था। आयकर विभाग की टीमों ने बृजेश मिश्र के अलावा ब्यूरो चीफ वीरेंद्र सिंह, विधायक अजय सिंह, होटल कारोबारी गोरे भाटिया, मनीष भाटिया और करीबी संग्राम सिंह सहित दो अन्य लोगों के मोतीनगर, गोमतीनगर, जानकीपुरम सहित आठ जगहों पर एक साथ छापा मारा था। आयकर विभाग की टीमों ने शुक्रवार को होटल कारोबारी गोरे भाटिया व मनीष भाटिया के यहां छापे की कार्रवाई पूरी की। इसके बाद वीरेंद्र सिंह और फिर देर रात बृजेश मिश्र के घर की छापेमारी पूरी हुई। आयकर विभाग की जांच सेल कानपुर की टीमें ब्रजेश मिश्र और वीरेंद्र सिंह के घर से जांच कर वापस लौटीं, जबकि अन्य ठिकानों पर लखनऊ के ही आयकर विभाग के अधिकारियों ने छापेमारी की।

आयकर विभाग के सूत्रों के मुताबिक छापेमारी के दौरान कुछ लोगों के घरों से पार्टनरशिप से जुड़े दस्तावेज जब्त किए गए हैं, जिनमें उनकी हिस्सेदारी की जानकारी है। इसके साथ कुछ रकम भी मिली है, जिसके स्रोत के बारे में पता लगाया जा रहा है।

Edited By: Rafiya Naz