लखनऊ, राज्य ब्यूरो। कोरोना महामारी के दौरान भी प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की रफ्तार पर ब्रेक नहीं लगा। 93.34 प्रतिशत लाभार्थियों को अब तक इस योजना से लाभान्वित किया जा चुका है। इस योजना के तहत पहली बार गर्भवती व धात्री महिलाओं को तीन किस्तों में पांच हजार रुपये दिए जा रहे हैं, ताकि वे अपने स्वास्थ्य की बेहतर ढंग से देखभाल कर सकें। कुल 43.5 लाख लाभार्थियों में से अब तक 40.6 लाख को इसका लाभ दिया जा चुका है। इस महीने अब तक 25 हजार महिलाओं ने पंजीकरण कराया है। 

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के उप्र के राज्य नोडल अधिकारी राजेश बांगिया के मुताबिक लाभार्थी महिलाओं को उनके बैंक खाते में सीधे धनराशि ट्रांसफर की जाती है। तीन किस्तों में पांच हजार रुपये दिए जाते हैं। पंजीकरण कराने पर पहली किस्त के रूप में एक हजार रुपये दिए जाते हैं। प्रसव पूर्व कम से कम एक जांच होने और गर्भवस्था के छह माह बाद दो हजार रुपये की दूसरी किस्त और बच्चे के जन्म का पंजीकरण होने व पहले चरण का टीकाकरण पूरा होने पर तीसरी किस्त के रूप में दो हजार रुपये धात्री महिलाओं को दिए जाते हैं। जनवरी, 2017 में शुरू की गई योजना के जरिये इस महीने जुलाई तक 43.5 लाख महिलाओं तक लाभ पहुंचाने का लक्ष्य तय किया गया था, जिसमें से 40.6 लाख महिलाओं को अब तक योजना का लाभ दिया जा चुका है।

Edited By: Vikas Mishra