लखनऊ (जेएनएन)। राज्य सूचना आयुक्तों के 10 रिक्त पदों के लिए 500 से अधिक आवेदन आए हैं। आवेदन करने वालों में कई वरिष्ठ आइएएस व आइपीएस अफसरों के साथ ही पत्रकार भी शामिल हैं। प्रशासनिक सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बनी समिति इन आवेदन पत्रों की स्क्रीनिंग कर रही है। इसके बाद इन्हें मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में गठित समिति के पास भेजा जाएगा। समिति की सिफारिशों पर राज्यपाल सूचना आयुक्तों की नियुक्ति करेंगे।

राज्य सूचना आयुक्तों के दो पद पहले से रिक्त चल रहे हैं, जबकि आठ पद छह जनवरी 2019 को खाली हो जाएंगे। ऐसे में सरकार ने पिछले दिनों सभी 10 पदों के लिए आवेदन मांगे थे। आवेदन पत्र चार अक्टूबर तक जमा किए गए। इस दौरान करीब 300 आवेदन जमा हुए हैं। इससे पहले अगस्त 2014 व अगस्त 2016 में भी प्रशासनिक सुधार विभाग ने विज्ञापन जारी कर राज्य सूचना आयुक्तों के रिक्त पदों के लिए आवेदन मांगे थे। तब जिन्होंने आवेदन किया था उनके भी आवेदन नई सूची में इसमें शामिल कर लिए गए हैं। ऐसे में कुल आवेदन 500 से अधिक हो गए हैं।

आवेदन करने वालों में ऐसे अफसर शामिल हैं जो जल्दी ही रिटायर होने वाले हैं। वे रिटायरमेंट से पहले राज्य सूचना आयुक्त पद की जुगत में लग गए हैं। वहीं, प्रशासनिक सुधार विभाग ने इन आवेदन पत्रों की स्क्रीनिंग शुरू कर दी है। इसमें अपूर्ण आवेदन पत्रों को निरस्त करने के साथ ही उन आवेदन पत्रों को भी हटाया जा रहा है जिनकी उम्र 65 वर्ष हो गई है। इन्हें मुख्य सचिव के बराबर सवा दो लाख रुपये प्रतिमाह वेतन और भत्ते मिलेंगे।

प्रशासनिक सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव ने भी किया आवेदन

राज्य सूचना आयुक्त पद के लिए प्रशासनिक सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव एसएन शुक्ल ने भी आवेदन किया है। गौरतलब है कि सूचना आयोग का प्रशासकीय विभाग प्रशासनिक सुधार विभाग है। शुक्ल खुद उस समिति के अध्यक्ष हैं जो राज्य सूचना आयुक्त पदों के लिए प्राप्त हुए आवेदनों की स्क्रीनिंग कर रही है। 1984 बैच के एसएन शुक्ल फरवरी 2019 में रिटायर होंगे।

1983 बैच के अफसर चंचल कुमार तिवारी ने भी आवेदन किया है। वह भी फरवरी 2019 में अवकाश प्राप्त करेंगे। 1983 बैच के राजीव कपूर व 1984 बैच के ललित वर्मा ने भी राज्य सूचना आयुक्त पद के लिए आवेदन किया है। राजीव कपूर इस साल दिसंबर में व ललित वर्मा फरवरी 2019 में रिटायर होंगे। 

Posted By: Ashish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप