लखनऊ, जेएनएन। राजधानी में शुक्रवार को एक दिलदहलाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक व्यवसायी ने प्रेमिका संग मिलकर अवैध संबंधों में बाधा बनी पत्नी पर चापड़ से कई वार कर दिए। पत्नी को मरा समझकर लोडर में भरकर फेंकने निकल पड़ा। इस बीच बेटे की सूचना पर पुलिस ने पीछा कर आरोपित व्यवसायी को प्रेमिका समेत गिरफ्तार कर लिया। घायल सीता को गंभीर हालात में अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये है पूरा मामला 

मामला निगोहां क्षेत्र के शेरपुरलवल गांव का है। यहां का निवासी सुरेश कुमार मौर्या गांव के बाहर पानी का प्लांट चलाता है। थानाप्रभारी निगोहां जगदीश पांडेय के मुताबिक, सुरेश के वृंदावन कॉलोनी निवासी रीतू सिंह से संबंध थे। इसकी जानकारी सुरेश की पत्नी सीता देवी को हो गई। पत्नी के विरोध पर दोनों के बीच अक्सर विवाद होने शुरू हो गए। इसपर सुरेश ने प्रेमिका संग मिलकर पत्नी को रास्ते से हटाने की योजना बना डाली।

प्रेमिका पर किए चापड़ से ताबड़तोड़ कई प्रहार

शुक्रवार सुबह करीब नौ बजे सुरेश प्रेमिका रीतू के साथ प्लांट पर था। इस बीच उसकी पत्नी सीता पहुंची। सीता ने विरोध किया तो दोनों में झगड़ा शुरू हो गया। इस पर सुरेश ने प्रेमिका संग मिलकर पत्नी पर चापड़ से ताबड़तोड़ कई प्रहार कर दिए। सिर और गर्दन में चापड़ से प्रहार के कारण सीता खून से लथपथ होकर मौके पर ही धराशाई हो गई। यह देख सुरेश और उसकी प्रेमिका के हाथ-पांव फूल गए। वह उसे मरा समझ बैठे और लोडर में सीता को डालकर उसे ठिकाने लगाने जा रहे थे। इस बीच सीता का बेटा शिव पहुंच गया। उसने यह देख पुलिस को सूचना दी।


पुलिस ने पीछा कर दबोचा 

सूचना पर पहुंची पुलिस ने लोडर का पीछा किया। पुलिस ने सुदौली मोड़ के पास से घेराबंदी कर दोनों को पकड़ लिया। पुलिस ने लोडर से खून से लथपथ सीता को बरामद किया। सीता की सांसे चल रही थी। उसे गंभीर हालात में अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं, आरोपित सुरेश कुमार मौर्या और उसकी प्रेमिका रीतू सिंह को पकड़ लिया। थानाप्रभारी ने बताया कि शिवम की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर सुरेश और उसकी प्रेमिका रीतू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। सुरेश की प्रेमिका अक्सर गांव के बाहर स्थित उसके प्लांट पर ही रहती थी।

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस