लखनऊ। चंदौली के चकिया कोतवाली पुलिस ने एक बार फिर विस्फोटक सामग्री बरामद कर बड़ी कामयाबी हासिल करने का दावा किया है। विस्फोटक सामग्री की अवैध ढंग से खरीद फरोख्त में लिप्त पांच लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। नक्सल प्रभावित शिकारगंज में सोमवार को पुलिस ने विस्फोटक सामग्री बरामद कर एक बड़ा धमाका किया है। पुलिस क्षेत्राधिकारी नृपेंद्र कुमार व आनंद सिंह सहित पुलिस टीम की सक्रियता से गत शनिवार को महेंद्र पिकअप पर लदे १६ हजार जिलेटिन को मय वाहन बरामद तो कर लिया था लेकिन चालक व कारोबार में संलिप्त युवक फरार हो गया था। हालांकि पुलिस टीम ने चालक नागेंद्र गिरी पुत्र रामविलास गिरी निवासी ग्राम महेंद्रबाढ़ थाना भगवानपुर जिला भभुआ (बिहार) व उसका साथी अमीर चंद्र चौधरी पुत्र श्याम बिहारी चौधरी निवासी वार्ड नंबर १४ छोटकी पुल भभुआ (बिहार) से रविवार की रात्रि को गिरफ्तार कर लिया। दोनों की निशान देही पर लोहरा थाना रार्बट्सगंज (सोनभद्र) स्थित गोदाम से स्थानीय पुलिस की मदद से सोमवार की भोर में छापेमारी कर १९३५ जिलेटिन राड, ६१०० डेटोनेटर व २००० मीटर डेटोनेटर फ्यूज तार, मोबाइल बरामद किया। मौके से दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया जो सोनभद्र जिले के घोरावल थानांतर्गत सिरासाई गांव निवासी मुहम्मद रमजान पुत्र स्वर्गीय मुस्तकीम व रार्बट्सगंज थानांतर्गत सुक्रूत गांव निवासी मुहम्मद इस्लाम पुत्र जब्बार हैं। इसके अलावा कारोबार में संलिप्त अरविंद कुमार सिंह पुत्र रामसूरत सिंह निवासी सकरी थाना कुदरा बिहार की गिरफ्तारी की गई है। अवैध कारोबार में एक अन्य व्यक्ति का नाम सामने आया है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है। सोमवार को कोतवाली में पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा ने विस्फोटक सामग्री के साथ इस धंधे में लिप्त लोगों को मीडिया के समक्ष प्रस्तुत किया।

पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा ने बताया कि विस्फोटक सामग्री का उपयोग पत्थर तोडऩे में लिया जाता है लेकिन यह विस्फोटक सामग्री अवैध तरीके से नक्सलियों को आपूर्ति के लिए गोदाम में रखी गई थी। कहा नक्सल प्रभावित जनपद में विस्फोटक सामग्री का इतना बड़ा जखीरा पहली बार बरामद हुआ है। निश्चित रूप से पुलिस टीम ने अल्प समय में काबिले तारीफ काम किया है।

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस