सुलतानपुर, संवाद सूत्र। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा कि हर व्यक्ति को रोजगार का अवसर मिलना चाहिए। जरूरी नहीं कि सभी को नौकरी मिले। दूसरे क्षेत्र में भी लोग अपना कौशल दिखा सकते हैं। कई के पास अपना हुनर होता है। यदि उन्हें उसके उपयोग का वातवरण मिले तो उनके परिवार में सुख समृद्धि आ सकती है। उन्होंने बुधवार को पं रामनरेश त्रिपाठी सभागार में आंगनबाड़ी केंद्रों को सुविधा सम्पन्न बनाने के लिए आवश्यक वस्तुओं के वितरण समारोह में यह विचार व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि कई व्यक्तियों में अपना कौशल होता है। उन्हें विभिन्न योजनाओं के बारे में लोगों को जागरूक किया जाना किया जाना चाहिए। ताकि वे उसे अपनाकर परिवार की आय बढ़ा सके। इससे सुख समृद्धि आएगी। राज्यपाल ने समाजिक विकास के लिए समृद्ध लोगों की भूमिका पर चर्चा की। उन्होंने आंगनबाड़ी को सबसे छोटी इकाई बताते हुए कहा कि इस विशेष ध्यान देने की जरूरत है। यहां गरीब घर के बच्चे आते हैं। केंद्रों में उन्हें

संस्कार व अनुशासन सिखाने पर जोर दिया। कहा यह काम विभिन्न खेलों के माध्यम से हो सकता है। इसके साधनों की व्यवस्था की जानी चाहिए। 

गोद लिए गए आंगनबाड़ी केंद्रः डा. राम मनोहर लोहिया विवि से संबद्ध महाविद्यालयों ने दस आंगनबाड़ी केंद्रों को गोद लिया। उन्हें 45 हजार रुपये के कीटस उपलब्ध कराए। इसके लिए महाविद्यालय के प्रबंधकों को राज्यपाल मि ओर से प्रमाणपत्र दिया गया। इसी कार्यक्रम में राज्यपाल ने जयसिंहपुर तहसील के कटरा चुग्घूपुर में बने राजकीय महाविद्यालय का लोकार्पण किया। ओडीओपी, आजीविका मिशन, पीएम आवास, मनरेगा, कृषि आदि के लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया। वृद्धा आश्रम को वाशिंग मशीन दी गई। 

पारिजात का दर्शनः राज्यपाल ने पारिजात वृक्ष का दर्शन किया। पुष्प अर्पण व परिक्रमा कर अपनी आस्था व्यक्त की। इसके बाद उन्होंने कलेक्ट्रेट में समूह मि महिलाओं से वार्ता और अधिकारियों के साथ योजनाओं की समीक्षा किया।

Edited By: Vikas Mishra