लखनऊ, जेएनएन। पीएम आवास योजना के तहत प्लाट दिलाने के नाम पर लोगों के करोड़ों रुपये डकारने वाले करियर मेकर इंफ्रा के निदेशक आशीष पटेल को गोमतीनगर पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अब आरोपित की पत्नी ऋचा शुक्ला के अलावा तीन अन्य आरोपितों की तलाश में दबिश दे रही है। आशीष ने पत्नी के साथ मिलकर कंपनी खोली थी।

एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव के मुताबिक, विपुलखंड गोमतीनगर निवासी आशीष पटेल और उसकी पत्नी ऋचा शुक्ला करियर मेकर इंफ्रा के नाम से कंपनी चलती थी। दोनों ने भोले-भाले लोगों को जाल में फंसाया और पीएम आवास योजना के तहत उन्हें प्लाट दिलाने का दावा किया। सैकड़ों लोगों से करोड़ों रुपये ऐंठ लिए। पर लोगों को प्लाट तो दे न सके। इसके बाद जब लोगों ने अपने रुपयों की मांग की तो धमकाने लगे। इसके बाद पीड़ित अनिल राय ने आशीष पटेल की शिकायत की थी। अनिल से पूर्वांचल विहार योजना में प्लाट दिलाने के नाम पर डेढ़ लाख रुपये ऐंठे थे। आशीष पटेल के पास से पीएम आवास योजना से संबंधित फार्म, करियर मेकर इंफ्रा कंपनी की मोहरें और एक लैपटाप बरामद किया गया है। उसे लैपटाप की भी जांच की जा रही है। इसके अलावा कंपनी के अन्य आरोपितों में उसकी पत्नी ऋचा शुक्ला, साथी आशीष मौर्या और सर्वेश वर्मा की तलाश की जा रही है।

शाइन सिटी के निदेशक को देखकर सीखी थी जालसाजी

इंस्पेक्टर धीरज कुमार सिंह ने बताया कि आशीष ने शाइन सिटी कंपनी के जालसाज निदेशक राशिद नसीम से प्लाट के नाम पर धोखाधड़ी करना सीखा था। आशीष पहले शाइन सिटी में टीम लीडर के पद पर नौकरी करता था। उसने देखा कि राशिद नसीम ने लोगों को प्लाट दिलाने के नाम पर रुपये ऐंठे और अरबपति बन गए। इसके बाद उसने नौकरी छोड़ दी और पत्नी के अलावा कुछ दोस्तों के साथ मिलकर करियर मेकर इंफ्रा कंपनी बना ली। कंपनी में आशीष और उसकी पत्नी निदेशक बन गए। इसके बाद एजेंट रखकर पीएम आवास योना के तहत लोगों को प्लाट दिलाने के नाम पर जालसाजी करने लगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021