लखनऊ, जागरण संवाददाता। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे में मैटेरियल सप्लाई का झांसा देकर व्यवसायी उज्जवल चंदारमानी से जालसाजों ने सवा करोड़ रुपये से अधिक की ठगी कर ली। उज्जवल की तहरीर पर कैसरबाग पुलिस ने जालसाज फर्म के संचालकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुरानी हैदराबाद कालोनी में रहने वाले उज्जवल चंदारमानी की मार्फिल इनोवेशन के नाम से फर्म है। उन्हें बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे में मैटेरियल सप्लाई का काम मिला था।

उज्जवल ने बताया कि त्रिवेणीनगर दो में रहने वाले मोहित कुमार और रोहित निगम की मोसरान टेक्नोलाजी के नाम से फर्म है। दोनों ने उनसे संपर्क किया। दोनों से बात तय हुई कि वह मैटेरियल देंगे और उज्जवल की फर्म सप्लाई करेगी। उज्जवल ने बताया चूंकि सप्लाई का काम बड़ा था इसलिए उन्होंने रोहित और मोहित के कहने पर उन्हें 1.53 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया।

मोहित और रोहित ने सिर्फ 15-20 लाख रुपये के मैटेरियल की सप्लाई दी और इसके बाद बंद कर दिया। समय से मैटेरियल न पहुंचने पर एक्सप्रेस-वे का काम बाधित होने लगा। इस पर रोहित और मोहित से विरोध जताया। दोनों कई दिन तक टाल मटोल करने लगे। दबाव बनाने पर दोनों ने गाली-गलौज कर धमकी दी। इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस उच्चाधिकारियों को दी। इंस्पेक्टर कैसरबाग अजय नारायण सिंह ने बताया कि रोहित और मोहित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

Edited By: Vikas Mishra