लखनऊ, जागरण संवाददाता। वाराणसी के सर्राफ से आलमबाग बस स्टैंड से 20 लाख की चांदी चोरी करने वाले गिरोह का पुलिस ने राजफाश किया है। आलमबाग पुलिस और क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने पांच युवकों को गिरफ्तार कर उनके पास से नौ किलो छह सौ ग्राम चांदी बरामद किया है। चोरी करने से पहले आरोप‍ितों ने सर्राफ की रेकी की थी। सर्राफ के बस में सवार होने पर आरोप‍ित भी उनके पीछे-पीछे अलग-अलग सीटों पर सवार हो गए थे और मौका पाकर चांदी लेकर फरार हो गए। 

एडीसीपी मध्य राजेश कुमार श्रीवास्तव के मुताबिक सभी आरोपित अंबेडकर नगर के रहने वाले हैं। गिरोह बनाकर यहां अलग अलग सराफा बाजार में रेकी करते थे। पांच अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। गिरफ्तार आरोपितों में माेतीलाल, रामप्यारे, श्यामू निषाद, जय किशन और बबलू निषाद शामिल हैं। वहीं, गुड्डू, मोनू, धीरज, अखिलेश और घरबरन फरार हैं, जिनके पास चोरी का शेष माल है।

एडीसीपी ने बताया कि आरोपित पुताई का काम करते हैं। लखनऊ में गिरोह बनाकर अलग अलग इलाकों में रेकी करते थे। पांच सितंबर को वाराणसी के व्यापारी ओमप्रकाश चौक सराफा बाजार गए थे। आरोपितों ने ओमप्रकाश का पीछा वहीं से शुरू कर दिया था। ओमप्रकाश जिस बस में बैठे थे उसी में आरोपित अलग अलग सीट पर सवार हो गए। आरोपितों ने ओमप्रकाश का ध्यान भटकाकर चांदी पार करने की योजना बनाई थी। हालांकि ओमप्रकाश के बस से नीचे उतरने पर उनका काम आसान हो गया। सर्राफ जब बस में दोबारा चढ़े तो चांदी गायब मिली। यही नहीं बस में बैठे लोग भी नहीं थे। संदेह होने पर पीड़ित ने आलमबाग पुलिस को सूचना दी और एक संदिग्ध को दबोच लिया था। इसके बाद चार अन्य आरोपितों को भी पकड़ लिया गया। आरोपितों ने झाड़ी में चांदी छिपाकर रखी थी। पुलिस आरोपितों के खिलाफ गैंगेस्टर लगाने की तैयारी कर रही है।

 

Edited By: Anurag Gupta