लखनऊ, जेएनएन। बोर्ड परीक्षा गुरुवार से शुरू हो रही है। यह दो पालियों में होगी। विद्यार्थी तय समय से 30 मिनट पहले केंद्र पर पहुंचे। वहीं 15 मिनट पूर्व निर्धारित सीट पर बैठ जाएं। साथ ही बिना घबराहट, तनाव के शांत मन से कोर्स का रिवीजन करें। इससे आत्मविश्वास बढ़ेगा। प्रश्न पत्र हल करने में आसानी होगी। वहीं इस बार कॉपी के हर पृष्ठ पर रोल नंबर व कोड लिखना अनिवार्य है। साथ ही आधार कार्ड ले जाना बिल्कुल न भूलें। दैनिक जागरण कार्यालय में बुधवार को डीआइओएस डॉ. मुकेश कुमार मौजूद रहे। उन्होंने फोन पर परीक्षा के नियमों को लेकर छात्रों में व्याप्त शंकाओं व उलझनों को दूर किया।

प्रश्न : परीक्षा को लेकर घबराहट है क्या करें।

उत्तर : थोड़ी देर योग करें। नींद पर्याप्त लें। नया टॉपिक पढऩे के बजाए, रिवीजन पर फोकस करें। परीक्षा के एक दिन पहले पहनकर जाने वाले कपड़े निकाल लें। उसमें अपना प्रवेश पत्र, पेन, रजिस्ट्रेशन कार्ड रख लें, ताकि जल्द बाजी में भूले नहीं।

प्रश्न : परीक्षा में क्या ले जाना अनिवार्य है।

उत्तर : पंजीकरण कार्ड, प्रवेश पत्र के साथ लिंक किया गया आधार कार्ड अनिवार्य है। इन्हें एक दिन पहले ही पहनकर जाने वाले अपने कपड़ों में रख लें।

प्रश्न : परीक्षा केंद्र पर कितने समय पहले प्रवेश मिल जाएगा।

उत्तर : तय समय के 30 मिनट पहले परीक्षा केंद्र पर पहुंच जाएं। 15 मिनट पहले कक्ष में बैठ जाएं। इससे आप पर एक्जाम फोबिया हावी नहीं होगा।

प्रश्न : क्या परीक्षा केंद्र पर पर्स ले जा सकते हैं।

उत्तर : पर्स का परीक्षा केंद्र में ले जाने का कोई औचित्य नहीं है। इसमें  पर्ची होने का संदेह रहता है। इसे न ले जाएं तो बेहतर रहेगा।

प्रश्न : स्टील की पटरी ले जाने पर भी क्या प्रतिबंध है।

उत्तर : स्टील की पटरी पर गणितीय संगणनाएं होती हैं। यह प्रतिबंधित है। इसलिए सामान्य स्केल ही लेकर जाएं।

प्रश्न : प्रश्नपत्र एनसीईआरटी बेस्ड आएगा कि नहीं।

उत्तर: एनसीईआरटी बेस्ड ही पेपर होगा। अब कोई नई किताब से न पढ़ें। निर्धारित पाठ्यक्रम की किताब से ही रिवीजन करें।

प्रश्न : पेपर में किस कलर के पेन ले जा सकते हैं।

लखनऊ : परीक्षा में ब्लू व ब्लैक पेन का ही इस्तेमाल करें। डायग्राम के लिए पेंसिल लिए जाएं। साथ ही आधार कार्ड, प्रवेश पत्र, पंजीकरण कार्ड अवश्य ले जाएं।

प्रश्न : पेपर में क्या जूते पहन कर जा सकते हैं।

उत्तर : कई बार परीक्षा केंद्र पर जूते निकलवा दिए जाते हैं। ऐसे में स्लीपर पहनकर जाएं तो असुविधा नहीं होगी।

प्रश्न : कॉपी के हर पृष्ठ पर रोल नंबर लिखना जरूरी है। 

उत्तर : इस बार सभी छात्रों को कॉपी के हर पृष्ठ पर कोड व रोल नंबर लिखना होगा। यह उनकी सुरक्षा के लिए ही है। इससे कॉपी बदलने की संभावना नहीं रहेगी।

प्रश्न : परीक्षा में घड़ी ले जा सकते हैं, या नहीं।

लखनऊ : सामान्य घड़ी ले जा सकते हैं। इलेक्ट्रॉनिक घड़ी पर रोक है।

यह रखें ध्यान

  • 15 मिनट पहले कक्ष में सीट पर बैठ जाएं, ताकि नए वातावरण में सामान्य महसूस कर सकें
  • कक्षा 10 के छात्र कक्षा नौ का रजिस्ट्रेशन कार्ड लेकर जाए
  • कक्षा 12 के विद्यार्थी कक्षा 11 का जिस्ट्रेशन कार्ड लेकर जाए
  • जूते के बजाएं स्लीपर पहन कर जाएं
  • अधिक जेब वाले कपड़ों के बजाए साधारण पहनें
  • पर्स, बेल्ट लगाकर न जाएं
  • पेपर मिलने पर पहले 15 मिनट ध्यान से पढ़ें
  • विद्यार्थी किसी भी दिक्कत के लिए कक्ष निरीक्षक से संपर्क करें

यह रहेगा प्रतिबंधित

परीक्षा केंद्र के सौ मीटर आस-पास धारा 144 लागू रहेगी।

ब्लूटूथ, मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक घड़ी व अन्य डिवाइस पर बैन

पेपर, पर्ची, किताब, कॉपी ले जाने पर रोक

कोई भी प्रतिबंधित सामग्री पाए जाने पर कक्ष निरीक्षक होंगे जिम्मेदार

सामूहिक नकल पाए जाने पर केंद्र व्यवस्थापक होंगे जिम्मेदार

विद्यार्थी ऐसे रखें खुद को फिट

  • संतुलित आहार : परीक्षा के दिनों में छात्रों को अधिक मेहनत करनी पड़ती है। इसलिए स्वास्थ्य वर्धक आहार करना चाहिए। इसके साथ ही पर्याप्त मात्रा में पानी भी जरूर पीना चाहिए इससे दिमाग तर रहता है। ताजा, हल्का और घर का बना खाना एनर्जी लेवल और एकाग्रता बढ़ाता है। फास्ट फूड, कोल्ड ड्रिंक, आइसक्रीम, बासी खाना न खाएं। मौसमी फल, दाल, हरी सब्जी, दूध का सेवन करें। 

  • मालिश : मालिश नींद और तनाव दूर करने में मददगार है। पढ़ाई के बीच में सिर और गर्दन की मालिश करने से शरीर का रक्त संचार बढ़ता है और तनाव का स्तर कम होता है। हथेलियों और पैर के तलवों की मालिश से भी मस्तिष्क को राहत मिलती है।

  • पर्याप्त आराम : लगातार पढऩा और देर रात तक जागना। यह शारीरिक व मानसिक रूप से नुकसानदेह हो सकता है। इसलिए पांच से छह घंटे की नींद अवश्य लें। इससे एकाग्रता बढ़ती है।
  • बॉडी स्ट्रेच करें : एक ही पोजीशन में देर तक पढऩे से शारीरिक दिक्कत हो सकती है। ऐसे में ब्रेक लेकर बॉडी को स्ट्रेच करें। इससे मसल्स का तनाव कम होता है। पढ़ाई में मन लगता है। 
  • ब्रेक है जरूरी : घंटों लगातार बैठकर न पढ़ें। बीच-बीच में 15-20 मिनट का ब्रेक जरूरी है। इससे तनाव कम रहेगा, और तरोताजा महसूस करेंगे।
  • मनोबल बढ़ाएं : परीक्षा के वक्त बच्चों को माता-पिता की सपोर्ट की जरूरत होती है। ऐसे में अभिभावक उनका मनोबल बढ़ाएं। सर्वोच्च अंक के लिए प्रेरित करें, प्रेशर न बनाएं।

  • प्राणायाम करें : प्राणायाम में नाक से सांस लेना और छोडऩा शामिल हो। इसमें धीमी, गहरी सांस लेने से रक्तचाप कम करने में भी मदद मिलती है। ब्रेक के दौरान आप कभी भी इसे कर सकते हैं। इससे तनाव भी कम होता है। दिमाग तारोताजा रहता है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस