लखनऊ, (विधि संवाददाता)। आम जनता के सामने प्रतिष्ठा धूमिल करने के लिए प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के समक्ष झूठा बयान देने का आरोप लगाते हुए ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने यूपी कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के खिलाफ परिवाद दाखिल किया है। सोमवार को एमपी-एमएलए अदालत के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार राय के समक्ष दाखिल परिवाद पत्र पर ऊर्जा मंत्री ने अपना बयान दर्ज कराया। मामले की अगली सुनवाई 14 जनवरी को होगी।

अदालत के समक्ष ऊर्जा मंत्री ने कहा कि विपक्षी आरोपित अजय कुमार लल्लू ने चार नवंबर को प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के समक्ष उनके विरुद्ध असत्य, दुर्भावनापूर्ण एवं भ्रामक बयान जारी किए। यह बयान टेलीविजन पर विभिन्न चैनलों पर प्रसारित हुए। इसके अलावा यह मिथ्या बयान समाचार पत्रों में भी पांच नवंबर 2019 को प्रकाशित किए। इन बयानों के प्रकाशन एवं प्रसारण को जनता ने पढ़ा एवं देखा है। वादी की ओर से बयान दर्ज कराते समय उनके अधिवक्ता के अतिरिक्त जिला शासकीय अधिवक्ता मनोज त्रिपाठी भी मौजूद थे।

वादी ने अपने बयानों में स्पष्ट आरोप लगाया है कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा है कि मैंने गरीब जनता की बिजली कुछ सौ एवं हजार रुपयों के बकाए पर कटवा दी। विभाग के खजाने से हजारों करोड़ रुपये देशद्रोहियों दाऊद इब्राहीम व इकबाल मिर्ची से जुड़ी कंपनियों को दिए हैं। इसके अलावा इस बात की भी जांच की जानी चाहिए कि सितंबर- अक्टूबर 2017 में ऊर्जा मंत्री किस उद्देश्य से दुबई गए थे। वहां किन-किन लोगों से मुलाकात की। ऊर्जा मंत्री ने अपने बयानों में कहा है कि वह कभी न तो दुबई गए हैं और न ही दाऊद इब्राहीम व इकबाल मिर्ची से कोई संबंध है।  

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस