लखनऊ, जेएनएन। नजाकत नफासत के शहर के लखनऊ की हर गली शनिवार की शाम से ही चांद के दीदार के लिए आसमान की ओर से टकटकी लगाए देख रही थी। हर कोई खुले आसमान में चांद की एक झलक पाने को बेकरार था। मरकजी चांद कमेटियों ने जब देर शाम चांद न दिखने का एलान किया तो एक ओर से रोजेदारों में ईद न होने की उदासी थी तो दूसरी ओर 30वें रोजे पर एक दिन और अल्लाह की इबादत करने का मौका मिलने की खुशी थी। 30 दिन का रोजा रहने का मौका मिलने पर रोजेदारों ने एक दूसरे को फोन पर बधाई दी। सोमवार को ईद होने से तैयारियों का समय मिलने का संतोष भी रोजेदारों में नजर आया।

इमाम ईदगाह मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने बताया कि शनिवार को चांद नहीं दिखाई दिया। जिसकी वजह से ईद अब सोमवार को होगी। ऐसे में रोजेदार 30वीं रमजान पर एक दिन का रोजा रविवार को भी रख सकेंगे। मौलाना ने नमाज के साथ ही अल्लाह से समाज को कोरोना से महफूज करने की दुआ करने की अपील की है। उन्होंने ईद पर गले न मिलने और सोशल मीडिया के माध्यम से मुबारक बाद देने और घर में परिवार के साथ ईद की खुशियां मनाने की गुजारिश भी की है। 

लाइव होगी ईद की नमाज - मौलाना कल्बे जवाद

शिया धर्मगुरु और इमाम-ए-जुमा मौलाना कल्बे जवाद ने सभी को सोमवार को ईद के मुबारक दिन शारीरिक दूरी बनाकर नमाज घरों में नमाज पढ़ने और गले लगाने से परहेज करने की गुजारिश की है। उन्होंने बताया कि मजलिस-ए-उलमाए हिंद की वेबसाइट पर लाइव होगी ईद की नमाज लाइव होगी। सुबह 11 बजे से नमाज अदा की जाएगी। घर पर ही रहकर सभी लोग नमाज अदा करें और प्रशासन की गाइड लाइन को मानें। लाइव के ज़रिए अकेले की नीयत से लोग नमाज़ अदा कर सकते हैं। ईद के लिए हमेशा से ही रहा है कि पहले गरीबो की मदद करे फिर खुद ईद मनाएं। ऐसे में इस बार इसका खास ख्याल रखें। अच्छे-अच्छे पकवान खाने से अच्छा है की गरीब की मदद करें।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021