गोंडा, जेएनएन। जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति भयावह हो गई है। कोरोना महामारी ने जिले में तैनात दो और अफसरों की जान ले ली। जिला महिला अस्पताल के सीएमएस व परियोजना निदेशक डीआरडीए की इलाज के दौरान मौत हो गई। अब तक जिले में कोरोना संक्रमण के कारण 128 लोगों की मौत हो चुकी है।

डिप्टी सीएमओ डा. मनोज कुमार ने बताया कि जिला महिला अस्पताल में तैनात सीएमएस डा. एपी मिश्र करीब 25 दिन पूर्व कोरोना संक्रमित हो गए थे। उन्हें बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया। सेहत में सुधार न होने पर उन्हें मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। इसके बाद उन्हें पीजीआइ रेफर कर दिया गया। उन्होंने बताया कि पीजीआइ में इलाज के दौरान उनकी सेहत सुधरने लगी थी। उन्हें प्लाजमा भी डोनेट कराया गया था। बुधवार को पीजीआइ में इलाज के दौरान डा. एपी मिश्र की मौत हो गई। वह फैजाबाद के रहने वाले थे। वहीं, परियोजना निदेशक डीआरडीए सेवाराम चौधरी पंचायत चुनाव में मतगणना कार्मिकों की तैनाती व प्रशिक्षण का काम देख रहे थे। करीब 20 दिन पूर्व वह भी कोरोना पॉजिटिव हो गए। इसके बाद उन्हें सतीश चंद्र मेमोरियल अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया। बताया जाता है कि इलाज के दौरान उनकी सेहत में सुधार आना शुरू हो गया था। अचानक बुधवार को उनकी तबियत बिगड़ गई। इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। परियोजना निदेशक आंबेडकर नगर के रहने वाले थे। डीएम मार्कण्डेय शाही, सीडीओ शशांक त्रिपाठी ने अफसरों के निधन पर शोक जताया है।

9792 मिले मरीज, 128 ने तोड़ा दम: जिले में कोरोना संक्रमण की चपेट में 9792 लोग आ चुके हैं। इनमें से अब तक 128 लोगों की मौत हुई है। विभागीय सूत्र के अनुसार 8015 मरीज अब तक स्वस्थ हुए हैं। जबकि, 1650 मरीजों का उपचार चल रहा है। इनमें से 1447 मरीज होम आइसोलेट हैं।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप