लखनऊ, जागरण संवाददाता। राजधानी में ग्रामीण और कमिश्नरेट पुलिस के दावे खोखले नजर आ रहे हैं। सीएम से लेकर उच्च अधिकारियों के आदेश मातहत हवा में उड़ा रहे हैं। लूटकांड के मामले में काकोरी और बीकेटी पुलिस की सीमा विवाद से मामला उजागर हुआ। दुबग्गा से बीकेटी के लिए ई-रिक्शा बुक कराकर गए दो बदमाशों ने जहरीला पदार्थ पिलाकर दिव्यांग चालक सोनू ई-रिक्शा, मोबाइल और नकदी लूट ली। घटना के बाद से पीड़ित सोनू और उसकी मां बीकेटी से काकोरी थाने के चक्कर लगा रहे हैं, पर अबतक मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। दोनों थानों की पुलिस मुकदमा दर्ज करने से पल्ला झाड़ रही है। पीड़ित का दाहिना पैर और बायां हाथ खराब है। लेकिन, जिम्मेदारों पर इसका कोई असर नहीं है। 

काकोरी थाने से शनिवार दोपहर मां खुशबू के साथ लड़खड़ाते हुए मौरा निवासी सोनू पाल बाहर निकला फूट-फूटकर रोने लगा। आस पड़ोस के लोगों ने उससे पूछा तो पुलिस पर उसका आक्रोश फूट पड़ा। सोनू ने बताया कि वह ई-रिक्शा चालक है। बीते 25 जुलाई को वह गाड़ी लेकर दुबग्गा आइआइएम रोड से बीकेटी जा रहा था। आइआइएम रोड पर उसे दो युवक मिले। उन्होंने बीकेटी के लिए गाड़ी बुक कराई और बैठ गए। इस बीच उन्होंने रास्ते में नशीली चाय पिलाई। अचेतावस्था में बदमाश बीकेटी में भौली के पास सड़क किनारे फेंककर भाग निकले। अगले दिन सुबह राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने सौ-शैय्या संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया। होश आने पर खुद को अस्पताल में पाया। पर्स, मोबाइल और ई-रिक्शा गायब था। इस बीच मां खुशबू और परिवारीजन पहुंचे। हालत सामान्य होने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

अज्ञात बदमाशों के खिलाफ तहरीर लेकर बीकेटी थाने पहुंचा तो पुलिस ने वहां से घटनास्थल काकोरी का बताकर पल्ला झाड़ लिया। काकोरी की दुबग्गा चौकी पहुंचा तो वहां से थाने भेजा गया। काकोरी थाने पहुंचा तो वहां से पुलिस कर्मियों ने कहा कि घटना बीकेटी की है। वहीं मुकदमा दर्ज होगा। पीडि़त घटना के बाद से बीकेटी और काकोरी थाने के चक्कर काट रहा है पर पुलिस ने अबतक मुकदमा दर्ज नहीं किया। खुशबू ने बताया कि शनिवार को वह फिर काकोरी थाने पहुंची तो पुलिस कर्मियों ने दुबग्गा भेज दिया। दुबग्गा चौकी पहुंची तो वहां से घटनास्थल बीकेटी थाने का बताकर टरका दिया। पीडि़त ने रविवार को भी पुलिस से संपर्क कर मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने की गुराह की पर कोई सुनवाई नहीं हुई। 

माना की बेटा गया हमारे यहां से घटना हुई बीकेटी मेंः खुशबू ने बताया कि काकोरी थाने से जब वह दुबग्गा चौकी पहुंची तो वहां दारोगा ने कहा कि मैं मानता हूं कि तुम्हारा बेटा यहां से ई-रिक्शा लेकर गया। लेकिन घटना उसके साथ बीकेटी में हुई इस लिए मुकदमा वहां दर्ज होगा। ऐसा कहकर दारोगा ने प्रार्थनापत्र रख लिया और भेज दिया। 

प्रकरण मेरी जानकारी में नहीं है। घटना अगर बीकेटी में ही हुई है तो वहां की पुलिस को मुकदमा दर्ज करना चाहिए। मुझसे अभी तक कोई भी पीडि़त नहीं मिला है। मैं थाने के पुलिस कर्मियों से जानकारी करता हूं। -ब्रजेश कुमार सिंह, इंस्पेक्टर काकोरी

घटना स्थल काकोरी का है। हमारे यहां भौली में सड़क किनारे ई-रिक्शा चालक सोनू पाल अचेत मिला था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रिपोर्ट काकोरी में दर्ज होगी क्योंकि वह ई-रिक्शा लेकर वहीं से चला था। -योगेंद्र सिंह, थाना प्रभारी, बीकेटी

Edited By: Vikas Mishra