लखनऊ। उत्तर प्रदेश को पहले सोलर माइक्रो ग्रिड की सौगात आज पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न डा.एपीजे अब्दुल कलाम और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दी। भविष्य के भारत की ऊर्जा जरूरत के लिए फिक्रमंद मिसाइलमैन ने सौर ऊर्जा को इसका विकल्प बताया। तो मुख्यमंत्री ने और भी सोलर माइक्रो ग्रिड लगाने का संकल्प दोहराया। कन्नौज के मजरा फकीरपुरा-चंदुआहार में बने 250 केवीए के सोलर प्लांट का लोकार्पण करने पहुंचे डा.कलाम ने कहा कि कन्नौज की ऐतिहासिक जमीन पर प्लांट का शुभारंभ करके वह बेहद खुश हैं। उन्होंने बताया कि अभी भारतवासी कम ऊर्जा खपत करते, जबकि अमेरिका में हर व्यक्ति भारत के मुकाबले 10 गुना, दुबई में 16 और ङ्क्षसगापुर में 12 गुना ऊर्जा खपत करता है। साथ ही वह बोले, जिस तरह देश तरक्की की ओर अग्रसर है, अर्थ व्यवस्था को पंख लग रहे हैं भविष्य में उसकी जरूरत भी बढ़ेगी। भविष्य के भारत के लिए उन्होंने कहा कि वाहनों में पेट्रोल डीजल फुंकने से प्रदूषण की मार पड़ती। यदि इन्हें बिजली से चलने वाले वाहनों में परिवर्तित किया जाए तो प्रतिदिन 14 हजार करोड़ लीटर ईधन तो बचेगा 35 करोड़ टन कार्बन उत्सर्जन भी थमेगा। कच्च्चे तेल पर होने वाले आठ लाख करोड़ रुपये खर्च की बचत भी होगी।

इससे पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति डा.कलाम से मिले सुझाव पर ही उन्होंने सौर ऊर्जा के क्षेत्र में काम किया जा रहा है। साथ ही डा. कलाम के स्वच्छ ऊर्जा के सपने को देश के सबसे बड़े सूबे में सच करने का भरोसा भी दिया। उसके बाद उन्होंने डा. कलाम ने मंच से बटन दबाकर सोलर प्लांट का शुभारंभ किया तो गांव में गरीबों की झोपडिय़ां जगमग करने लगीं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप