लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार और मेधावी छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए शुक्रवार को विभिन्न योजनाओं का शुभारंभ किया। निजी क्षेत्र की संस्थाओं की ओर से यह पहल कारपोरेट सामाजिक दायित्व के तहत की जा रही है। लोक भवन सभागार में इन योजनाओं का शुभारंभ करते हुए उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि योगी सरकार के प्रयासों का नतीजा है कि 2017 से पहले शिक्षा के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश की रैंकिंग 'सी' ग्रेड में थी जो अब 'ए' ग्रेड हो गई है। कई वर्षों के बाद सरकारी व अनुदानित माध्यमिक विद्यालयों के प्रति छात्रों व उनके अभिभावकों का आकर्षण बढ़ा है। इन विद्यालयों के बाहर सीट भरने के बोर्ड देखने को मिल रहे हैं।

10 हजार शिक्षकों को आनलाइन प्रशिक्षण : कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री ने प्रदेश के 10 हजार शिक्षकों के लिए आनलाइन प्रशिक्षण योजना का शुभारंभ किया। यह प्रशिक्षण सेठ आनंद राम जयपुरिया ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस की ओर से स्थापित सामर्थिय टीचर्स ट्रेनिंग एकेडमी आफ रिसर्च की ओर से दिया जाएगा। इस मौके पर जयपुरिया ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस के अध्यक्ष शिशिर जयपुरिया ने कहा कि शिक्षकों को डिजिटल टेक्नोलाजी, विभिन्न मोबाइल एप के संचालन, शैक्षिक प्रोग्रामों को समझने व लागू करने की आनलाइन ट्रेनिंग दी जाएगी। इसकी रूपरेखा तैयार कर ली गई है। जल्द ही प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किया जाएगा।

2500 सरकारी माध्यमिक विद्यालयों में करियर परामर्श की सुविधा : उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने इंस्टीट्यूट फार करियर स्टडीज की ओर से प्रदेश के सभी जिलों में कुल 2500 सरकारी माध्यमिक विद्यालयों में करियर परामर्श की सुविधा प्रदान करने की योजना का भी शुभारंभ किया। इंस्टीट्यूट की संस्थापक निदेशक डा. अमृता दास ने बताया कि उनके संस्थान की ओर से माध्यमिक विद्यालयों के छात्रों की करियर काउंसिलिंग की जाएगी और शिक्षकों को इसके बारे में ट्रेनिंग दी जाएगी।

एक हजार छात्राओं को स्टडी टेबल : इस मौके पर कानपुर के मेसर्स ग्लोबल क्राफ्ट संस्था कि सह-संस्थापक आशिमा खेतान ने बताया कि उनकी संस्था की ओर से 1000 अंत्योदय कार्डधारक परिवारों की छात्राओं को घर में पढ़ाई करने के लिए स्टडी टेबल दी जाएगी। कार्यक्रम के दौरान उप मुख्यमंत्री ने राजधानी के राजकीय बालिका इंटर कालेज की 15 छात्राओं को स्टडी टेबल वितरित किए।

30 सरकारी माध्यमिक विद्यालयों में स्मार्ट क्लास : इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने एचडीएफसी बैंक की ओर 30 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में स्मार्ट क्लास के संचालन का भी शुभारंभ किया। बैंक के वाइस प्रेसीडेंट अनुपम मिड्ढा ने कहा कि इसका लाभ 15,000 से अधिक विद्यार्थियों को मिलेगा।

कंप्यूटर छात्रों को टैबलेट : यूपीडेस्को के प्रबंध निदेशक कुमार विनीत ने बताया कि उनकी संस्था ने लखनऊ मंडल में कंप्यूटर विषय के 123 मेधावी छात्रों को मुफ्त में टैबलेट देने का फैसला किया है। कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री ने 15 छात्रों को टैबलेट वितरित किए। इन सभी संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने उप मुख्यमंत्री को प्रतिबद्धता पत्र सौंपे।

अंक सुधार परीक्षा के परिणाम जल्द : इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने शिक्षा के क्षेत्र में सुधार के लिए योगी सरकार की ओर से उठाये गए कदमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में इस साल यूपी बोर्ड ने परीक्षा कराए बिना 10वीं और 12वीं के छात्रों को प्रमोट किया है। सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि प्रमोट किए गए सभी छात्रों को उच्च कक्षाओं में दाखिला मिले। यूपी बोर्ड की अंक सुधार परीक्षा भी संपन्न हो चुकी है। इसके परिणाम जल्दी आएंगे। कार्यक्रम में उद्यान राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीराम चौहान, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला, सिटी मांटेसरी स्कूल के संस्थापक जगदीश गांधी, सीबीएसई बोर्ड के पूर्व चेयरमैन अशोक गांगुली भी मौजूद थे।

Edited By: Umesh Tiwari