लखनऊ, जेएनएन। B.Ed Entrance Exam: बीएड कोर्स में दाखिले के लिए नौ अगस्त को आयोजित होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा की तैयारियों को लेकर बुधवार को उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति ,रजिस्ट्रार और उच्च शिक्षा अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसी भी कीमत पर प्राइवेट डिग्री कॉलेजों व स्कूलों  को बीएड प्रवेश परीक्षा का केंद्र न बनाया जाए। 

सिर्फ राजकीय डिग्री कॉलेजों व राजकीय स्कूलों में परीक्षा केंद्र बनाए जाएं और अगर यह कम पड़ते हैं तो बहुत जरूरी होने पर ही एडेड डिग्री कॉलेजों व स्कूलों में परीक्षा केंद्र बनाए जाए। परीक्षा केंद्र पर सीसीटीवी कैमरे, वायस रिकार्डर व राउटर अनिवार्य रूप से लगाए जाएंगे। ताकि परीक्षा के दौरान लाइव वेब टेलीकास्टिंग के माध्यम से इसकी निगरानी की जा सके। नकल विहीन परीक्षा आयोजित करने के लिए सभी जरूरी उपाय किए जाएं। उन्होंने निर्देश दिए कि उन्हीं कॉलेजों को परीक्षा केंद्र बनाया जाए, जहां पहले किसी गड़बड़ी की कोई शिकायत न मिली हो। 

उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि बीएड प्रवेश परीक्षा के लिए आगरा, अयोध्या, आजमगढ़, बरेली, गाजियाबाद, लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज व वाराणसी जिलों से अधिक परीक्षा केंद्र बनाए जाने की मांग की गई है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए शारीरिक दूरी के नियमों का पालन जरूरी है। ऐसे में इन जिलों के आसपास के जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए जाएं। जिन जिलों में 20 से अधिक परीक्षा केंद्र होंगे वहां विश्वविद्यालय के शिक्षक को ही नोडल अधिकारी बनाया जाएगा। प्रत्येक जिले में परीक्षा के संचालन के  लिए एक कमेटी बनेगी।

जिसमें डीएम द्वारा नामित अधिकारी, डीआइओएस, क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी व लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा नामित एक अधिकारी शामिल होगा। परीक्षा केंद्रों के पर्यवेक्षण के लिए एक वरिष्ठ मजिस्ट्रेट की तैनाती की जाए। मालूम हो कि बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा पहले 29 जुलाई को आयोजित की जानी थी लेकिन अब यह नौ अगस्त को आयोजित की जाएगी। प्रवेश परीक्षा का परिणाम 28 अगस्त को होगी और काउंसिङ्क्षलग 14 सितंबर से लेकर 17 सितंबर के बीच होगी।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप