लखनऊ, जेएनएन। डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा शुक्रवार शाम करीब पौने आठ बजे दिवंगत भाजपा नेता प्रत्यूष मणि त्रिपाठी के मॉडल हाउस स्थित घर पहुंचे। डिप्टी सीएम को घर पर देख प्रत्यूष की पत्नी प्रतिमा न्याय की गुहार कर फूट-फूटकर रोने लगी। प्रतिमा ने डिप्टी सीएम से कहा कि साहब हत्यारों ने जीने का सहारा तो छीन लिया अब बच्चों और परिवार का भरण पोषण कैसे होगा। कम से कम एक सरकारी नौकरी तो दिला दीजिए जिससे बच्चों की परवरिश हो सके। इस बीच प्रतिमा ने डिप्टी सीएम को एक प्रार्थनापत्र दिया।

प्रतिमा ने कहा कि पुलिस की लापरवाही से पति की हत्या हुई है। पति की हत्या में नामजद आरोपित सलमान, शीबू और अदनान जितना दोषी हैं उतना ही दोष पुलिस का है। 25 नवंबर को उक्त तीनों आरोपितों ने 20-25 लोगों के साथ मिलकर घर पर हमला किया था। पति ने जब रिपोर्ट लिखाई तो उन लोगों ने पेशबंदी में मुकदमा दर्ज कराया। पति ने सुरक्षा की मांग की तो उन्हें नहीं दी गई। आरोपितों ने सोशल साइट्स पर भी अभद्र धार्मिक टिप्पणी की है। डिप्टी सीएम ने प्रतिमा और उनके परिवारीजनों को ढांढ़स बंधाते हुए शांत कराया।

डिप्टी सीएम ने कहा कि प्रत्यूष पार्टी में बहुत ही सक्रिय कार्यकर्ता थे। उनका बहुत योगदान रहा है। पार्टी और शासन हर प्रकार से परिवार की मदद करेगी। दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। वह करीब आधे घंटे तक प्रत्यूष के घर पर रुके। इस दौरान उनके साथ भाजपा नेता डॉ. संजय शुक्ला, स्वतंत्र बाजपेयी, पूर्व पार्षद अतुल दीक्षित व अन्य लोग मौजूद रहे।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस