लखनऊ, जागरण संवाददाता। Muharram 2022 मुहर्रम और फिर बाद में पड़ने वाली छुट्टियों के कारण इंदिरानगर निवासी राहुल वर्मा ने परिवार के साथ माता वैष्णो देवी के दर्शन की योजना बनाई। वह चारबाग रेल आरक्षण केंद्र पहुंचे। बेगमपुरा एक्सप्रेस की स्लीपर क्लास में नौ और 10 अगस्त को तो 90 से अधिक वेटिंग है, लेकिन 11 को तो स्थिति रिग्रेट हो गई है। इस महीने मुहर्रम से Janmashtami 2022 जन्माष्टमी तक पड़ने वाले अवकाश के बीच लोग यात्रा करने का भी प्लान बना रहे हैं, जबकि रक्षाबंधन पर लखनऊ आने के लिए एनसीआर और दिल्ली के बड़ी संख्या में यात्री वेटिंग में हैं।

नैनीताल जाने के लिए लखनऊ जंक्शन-काठगोदाम एक्सप्रेस में वेटिंग चल रही है। इसी तरह शिमला जाने के लिए चंडीगढ़ एक्सप्रेस में 35 से 90 तक वेटिंग स्लीपर क्लास में हो गई है। एसी थर्ड की वेटिंग 35 तक पहुंच गई है। जयपुर जाने वाली गोमतीनगर-जयपुर एक्सप्रेस की स्लीपर क्लास की वेटिंग का शतक लगा चुकी है।

इस ट्रेन में 10 अगस्त को स्लीपर क्लास की वेटिंग 150 तक पहुंच गई है, जबकि थर्ड एसी इकानमी में 35, एसी थर्ड में 43 और एसी सेकेंड में वेटिंग 28 से अधिक पहुंच गई है। मरुधर एक्सप्रेस में 12 अगस्त की रात को स्लीपर क्लास का वेटिंग का टिकट भी नहीं मिल रहा है। जन्माष्टमी पर मथुरा जाने वाले यात्रियों के रिजर्वेशन के कारण पटना कोटा एक्सप्रेस की स्लीपर क्लास में वेटिंग तेजी से बढ़ रही है। एसी थर्ड में भी वेटिंग है।

दिल्ली की राह भी आसान नहीं : रक्षाबंधन और स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए दिल्ली से आने वाली ट्रेनों में भी वेटिंग बढ़ रही है। देश की कारपोरेट सेक्टर की पहली ट्रेन तेजस एक्सप्रेस की चेयरकार में 10 अगस्त को वेटिंग 88 हो गई है, जबकि किराया 1500 रुपये हो गया है। नई दिल्ली-लखनऊ शताब्दी एक्सप्रेस की चेयरकार में 10 अगस्त को 72 जबकि 11 को वेटिंग 131 हो गई है।

एसी सुपरफास्ट की एसी थर्ड इकानमी में 10 अगस्त को 71, एसी थर्ड में 98 वेटिंग है, जबकि एसी सेकेंड में वेटिंग के टिकट भी नहीं मिल रहे। लखनऊ मेल में 10 अगस्त को स्लीपर क्लास की वेटिंग 200 का आंकड़ा छू गई है। एसी थर्ड इकानमी में 66 वेटिंग है। एसी थर्ड और एसी सेकेंड के वेटिंग के टिकट मिलने बंद हो गए हैं।

Edited By: Anurag Gupta