लखनऊ (जेएनएन)। भाजपा कार्य समिति की बैठक शुरू हो चुकी है। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय के साथ कई नेता मौजूद हैं। गृहमंत्री राजनाथ सिंह करीब तीन बजे कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ करेंगे। सीएम योगी मेरठ पहुंचने वालें हैं लेकिन वह चार बजे के बाद मंच साझा करेंगे।

इस दौरान मंत्री, विधायक और तमाम प्रकोष्ठ के पदाधिकारी शामिल होंगे। बैठक में पश्चिम उत्तर प्रदेश में वर्तमान में बन रहे हालात और अनुसूचित वर्ग को साधने पर अधिक जोर रहेगा। वकीलों के प्रदर्शन को देखते हुए सुभारती विश्वविद्याल के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। बैठक यहीं पर मातादीन वाल्मीकि परिसर में चल रही है। इस दो दिवसीय बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह रविवार को आएंगे।



हवाई पट्टी पर जाने से रोकने पर विधायक विफरे
सीएम योगी कुछ देर बाद हवाई पट्टी पर उतरेंगे। वहां अगवानी के लिए जा रहे हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक को पुलिस द्वारा रोकने पर विधायक ने पुलिस को खरी खोटी सुनाई। भाजपा नेता सुनील भराला को भी पुलिस ने नहीं जाने दिया। हालांकि सरधना विधायक संगीत सोम अपने कुछ नेताओं के साथ हवाई पट्टी पर पहुंचने में सफल रहे।

अमित शाह रविवार को करेंगे समापन

रविवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह प्रथम सत्र में प्रदेश कार्यसमिति की बैठक लेंगे। दोपहर तीन बजे प्रदेश के सभी सांसदों एवं विधायकों के साथ मैराथन मीटिंग करेंगे। सत्र समापन के बाद शाह सड़क मार्ग से नई दिल्ली लौट जाएंगे। एक दिन पहले शुक्रवार को प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्रनाथ पांडे ने तैयारियों की समीक्षा की। इसके बाद प्रेस वार्ता में प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि कार्यसमिति में तमाम सत्रों का संचालन होगा। दूसरी ओर कार्यसमिति की बैठक के लिए अभेद्य सुरक्षा व्यवस्था की गई है। कोई 1500 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। एनएसजी कमांडो और एटीएस की टीम ने शुक्रवार को ही जिले में डेरा जमा लिया है। भाजपा की इस बैठक को लेकर खुफिया विभाग ने एसिड आतंकी अटैक का इनपुट जारी किया है। हालांकि इसमें समय और स्थान का जिक्र नहीं है। जिलाधिकारी अनिल ढींगरा और एसएसपी राजेश कुमार पांडेय ने शुक्रवार को बम निरोधक दस्ते ने बैठक स्थल और गेस्ट हाउस की जांच की। एनएसजी कमांडो की टीम ने भी एसएसपी समेत अन्य अधिकारियों के साथ बैठक की।

 

भाजपा देगी दलित-पिछड़े एजेंडे को धार

स्टेट ब्यूरो से आनन्द राय की रिपोर्ट के मुताबिक भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति के मकसद तो कई हैं लेकिन, मुख्य निशाने पर 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव है। राजधानी में लगातार तीन दिनों तक अति पिछड़ी जातियों को साधने के बाद भाजपा मेरठ की इस कार्यसमिति में भी अपने दलित-पिछड़े एजेंडे को धार देगी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भीम आर्मी के प्रभाव को देखते हुए भाजपा ने दलितों को साधने पर जोर दिया है। कैराना और नूरपुर के उपचुनाव में मिली पराजय और मेरठ नगर निगम के चुनाव में बसपा की जीत ने दलितों को लेकर भाजपा को सजग कर दिया है।

पिछड़ों और दलित नेताओं को तरजीह 

भाजपा ने दलितों को तरजीह देने के लिए ही सुभारती विश्वविद्यालय मेरठ में प्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मातादीन बाल्मिकी के नाम पर बने परिसर को कार्यसमिति की बैठक के लिए चुना है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गैर जाटव दलितों में बाल्मिकी समाज का प्रभाव है और मातादीन के प्रति इस समाज में गौरव का भाव है। ध्यान रहे कि राजधानी में सरकार और संगठन के समन्वय से मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को तीन दिनों तक प्रजापति, राजभर और नाई समाज के प्रतिनिधियों का सम्मेलन हुआ। कार्यसमिति में भी पिछड़ों और दलित नेताओं को तरजीह मिलेगी। प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय और संगठन महामंत्री सुनील बंसल ने इसकी रूपरेखा तैयार कर ली है। इस कार्यसमिति में ही विकास यात्रा और अन्य कार्यक्रमों पर मुहर लगेगी। दलितों और पिछड़ी जातियों की बड़ी रैली आयोजित करने की भी योजना है। संभव है कि मेरठ या आसपास के जिलों में कार्यसमिति के बाद दलितों की रैली आयोजित की जाए। 

भाजपा नेता मिलकर तय करेंगे रणनीति 

भाजपा सरकार बनने के बाद लखनऊ और कानपुर में प्रदेश कार्यसमिति की बैठक हुई। सरकार बनने के बाद मेरठ में तीसरी कार्यसमिति होने जा रही है। लोकसभा चुनाव को लेकर केंद्रित इस कार्यसमिति में करीब सात सौ भाजपा नेता मिलकर रणनीति तैयार करेंगे। कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय करेंगे। इस बैठक में प्रदेश प्रभारी, सह प्रभारी, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य, विशेष आमंत्रित सदस्य, स्थाई आमंत्रित सदस्य, पदेन सदस्य, क्षेत्रीय अध्यक्ष, क्षेत्रीय संगठन मंत्री, जिलाध्यक्ष, जिला प्रभारी, नगर निगमों के महापौर समेत कुल 683 प्रतिनिधि शामिल होंगे। प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, संगठन महामंत्री सुनील बंसल, प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक, गोविंद नारायण शुक्ल, अशोक कटारिया, पंकज सिंह, सलिल विश्नोई, विद्यासागर सोनकर समेत कई पदाधिकारी वहां पहुंच चुके हैं। सुनील बंसल तैयारियों को लेकर लगातार बैठक कर रहे हैं। 

By Nawal Mishra