Liquor Sales In UP: लखनऊ, राज्य ब्यूरो। उत्तर प्रदेश में सुरा के शौकीन बढ़ गए हैं। महज चार महीने में ही देशी व विदेशी शराब और बीयर की बिक्री (Liquor Sale) में बढ़ोतरी हुई है। बीयर की बिक्री में सबसे अधिक 52 प्रतिशत का उछाल आया है। इसी के दम पर आबकारी विभाग (UP Excise Department) ने अप्रैल से जुलाई 2022 तक 1710 करोड़ रुपये से खजाना भरा है।

उत्तर प्रदेश आबकारी विभाग के अपर मुख्य सचिव आबकारी संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि आबकारी मंत्री नितिन अग्रवाल ने अवैध शराब का निर्माण, बिक्री व तस्करी पर कठोर कार्रवाई कराई है। इसका असर शराब की बिक्री पर पड़ा है। पिछले वर्ष जुलाई तक 11,164 करोड़ राजस्व मिला था।

इस वर्ष जुलाई तक बढ़कर 1,710 करोड़ अधिक आय अर्जित करते हुए 12,874 करोड़ का राजस्व हासिल हुआ है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 15.31 प्रतिशत अधिक है। राजस्व लक्ष्यों को पाने के लिए आबकारी विभाग निरंतर प्रयास करते हुए पूरी तरह से कटिबद्ध है।

आबकारी आयुक्त सेंथिल पांडियन सी. ने बताया कि विभाग ने ईज आफ डूइंग बिजनेस को साकार करते हुए बहुत से नियमों का सरलीकरण किया है। विभाग अधिक से अधिक राजस्व अर्जित करने के लिए नए स्रोत विकसित किया है। इसका असर दिखने लगा है।

उद्यमियों को प्रोत्साहित करके नई डिस्टिलरियों की स्थापना व पहले से स्थापित डिस्टिलरियों की क्षमता में विस्तार के अलावा विभाग अधिकाधिक माइक्रोब्रेवरी की स्थापना, नये रेस्टोनबार लाइसेंसों की स्वीकृति, रिटेल वेंडर के नये कांसेप्ट, होम बार लाइसेंस प्रदान किये जाने की दिशा में भी कदम बढ़ाया गया है।

उत्तर प्रदेश में बीयर की बढ़ती मांग को देखते हुए राजस्थान, महाराष्ट्र, गोवा, पंजाब और मध्य प्रदेश से भी खरीदी जा रही है। पिछले साल कोरोना का असर कम होने के बाद से बीयर की मांग में तेजी आई थी। सत्र 2021-22 में 54.79 करोड़ केन की बिक्री हुई थी। यह पूर्व के सभी रिकार्ड को तोड़ते हुए 67 प्रतिशत की बढ़ोतरी थी।

इस तरह बढ़ी शराब की मांग

  • ब्रांड - जुलाई 21 - जुलाई 22 (करोड़ में)
  • देशी शराब - 5124 - 6029
  • विदेशी शराब - 3456 - 3504
  • बीयर - 1394 - 2134

Edited By: Umesh Tiwari