लखनऊ, जेएनएन। जानलेवा कोरोना वायरण के संक्रमण पर उत्तर प्रदेश में अंकुश लगाने के प्रयास में लगातार जतन कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को लखनऊ में चिन्हित हॉटस्पॉट क्षेत्रों का निरीक्षण करेंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर कोर टीम के साथ बैठक में यह निर्णय लिया है।

कोरोना वायरस के संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए उत्तर प्रदेश के 15 जिलों में हॉटस्पॉट का चयन किया गया है। इन सभी क्षेत्रों को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। इन सभी जगह पर कोरोना वायरस के पॉजिटिव केस बड़ी संख्या में मिले हैं।

प्रदेश के अन्य 15 जिलों के साथ ही लखनऊ में भी 12 क्षेत्र हॉटस्पॉट के रूप में चिन्हित हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ में हॉटस्पॉट इलाकों का निरीक्षण करेंगे। सीएम यहां पर निरीक्षण के साथ ही इंतजाम तथा सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लेंगेलखनऊ में चार आंशिक और आठ इलाकों को पूर्ण रूप से सील करने का फैसला लिया गया है। शासन के निर्देश पर इन इलाकों को चिंहित कर लखनऊ पुलिस ने बुधवार को रिपोर्ट सौंप दी। सील किए गए इलाके मेंं लोगों को घर से बाहर निकलने पर प्रतिबंध लगाया गया है। यहां पर आवश्यक सामग्री लोगों के दरवाजे तक पहुंचाई जाएगी।

लखनऊ में पहले से सील कसाई बाड़ा सदर स्थित अली जान मस्जिद, मोहम्मदी मस्जिद वजीरगंज, फूलबाग और नजरबाग मस्जिद, कैसरबाग, मोहम्मदिया मस्जिद, मुजम्मिल नगर सहादतगंज, पीर बक्का मस्जिद तालकटोरा इलाके को पूरी तरीके से सील कर दिया गया है। यहांं न तो कोई बाहर से जा सकता है और न ही वहां के रहने वाले व्यक्ति को कहीं और जाने की इजाजत है।

पुलिस ने जिन इलाकों को आंशिक रूप से सील करने का निर्णय लिया है, उनमें गोमतीनगर का विजय खंड, मेट्रो स्टेशन मुंशीपुलिया, अलीना एंक्लेव खुर्रमनगर और आइआइएम पॉवर हाउस का इलाका शामिल है। इन इलाकोंं में रहने वाले लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है।

राजधानी पुलिस ने बुधवार को कुछ इलाके चिंहित किए, जिन्हें पूरी तरीके से सील किया गया है। इनमें खजूर वाली मस्जिद त्रिवेणी नगर, और रजौली मस्जिद, गुडंबा के आसपास का इलाका शामिल है। इन इलाकों में जमात के लोग ठहरे थे और वहां रहने वाले लोगों के संपर्क में आए थे। इसी कारण एहतियात के तौर पर पुलिस ने इन दोनों इलाकों को सील करने का निर्णय लिया।

बेरिकेडिंग की गई, पुलिस मुस्तैद

पुराने लखनऊ समेत उन सभी क्षेत्रों में पुलिस ने बेरिकेडिंग की है, जिन्हें सील किया गया है। पुलिस आयुक्त ने इन इलाकों में भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया। इन सभी इलाकों में पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ा दी गई है। लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों से सख्ती से निपटने के निर्देश हैं। पुलिस आयुक्त का कहना है कि अगर कोई व्यक्ति शासन के आदेशों का उल्लंघन करेगा तो उसके खिलाफ एफआइआर दर्ज की जाएगी।

 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस